उदयपुर। इन दिनों एक मैसेज सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें केंद्र सरकार द्वारा ‘प्रधानमंत्री कन्या विवाह योजना’ के तहत बेटियों को उनके विवाह के लिए 40,000 हजार रुपये देने का दावा किया जा रहा है। अब तेजी से वायरल होते इस मैसेज की सच्चाई बताने के लिए केंद्र की संस्था प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) को आगे आना पड़ा। पीआईबी ने ट्वीट जारी कर इस दावे को पूरी तरह फर्जी बताया हैं। संस्था ने कहा- इस तरह की कोई योजना ही नहीं है। किसी के भी खाते में पैसे ट्रांसफर नहीं किए जा रहे हैं। केंद्र सरकार ने भी बताया उनका इस तरह का फिलहाल कोई प्लान नहीं है। ये वीडियो करीब एक साल पुराना है। इसे 17 नवंबर 12019 को यूट्यूब पर अपलोड किया गया था। अब ये वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।
मध्यप्रदेश सरकार देती है बेटी की शादी के लिए 5100 हजार रुपए
इस फैक्ट चेक के बीच आपको ये भी बता दें कि इस तरह की योजना मध्यप्रदेश सरकार ज़रूर चलाती है। जिसका नाम मुख्यमंत्री कन्या विवाह एवं निकाह योजना है। इसमें गरीब, जरूरतमंद और बेसहारा परिवारों की बेटियों, विधवाओं और तलाकशुदा महिलाओं की शादी के लिए 51 हजार की आर्थिक सहायता दी जाती है। ये बता दें कि ये मदद सामूहिक समारोह में शादी करने वाली बेटियों को ही दी जाती है। 2006 में इस योजना को मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के नाम से शुरू किया गया था लेकिन नवंबर 2015 में इसका नाम बदलकर मुख्यमंत्री कन्या विवाह एंव निकाह योजना कर दिया।