केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान का गुरुवार शाम 74 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। उनके बेटे और सांसद चिराग पासवान ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। चिराग ने अपने पिता की तस्वीर के साथ लिखा- पापा….अब आप इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं। मोदी सरकार में उपभोक्ता मंत्री रहे पासवान लंबे समय से खराब तबीयत के चलते दिल्ली के एक हॉस्पीटल में भर्ती थे। उनकी मौत की खबर आते ही लोगों ने उनको सोश्यल मीडिया पर श्रद्धांजलि देना शुरू कर दिया। पीएम नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर ट्वीट कर शोक जताया। उन्होंने लिखा- मैं बेहद दुखी हूं, हमारे देश में एक निर्वात पैदा हो गया है जिसे कभी भरा नहीं जा सकेगाद्ध श्री रामविलास पासवान जी का निधन एक व्यक्तिगत नुकसान है, मैंने एक दोस्त और सहकर्मी खो दिया। वो एक ऐसे शख़्स थे जो हमेशा ये सुनिश्चित करने को उत्सुक रहते थे कि हर गऱीब एक सम्मानपूर्ण जीवन जी सकें। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट कर कहा है कि- केंद्रीय मंत्री एवं लोकप्रिय राजनेता राम विलास पासवान जी के निधन से मुझे व्यक्तिगत तौर पर दु:ख पहुंचा है।

उनका निधन भारतीय राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है, ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि रामविलास पासवान जी के असमय निधन का समाचार दुखद है। गऱीब-दलित वर्ग ने आज अपनी एक बुलंद राजनैतिक आवाज खो दी। उनके परिवारजनों को मेरी संवेदनाएं। आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा कि न्यायप्रिय राजनीति और दलित वंचित चेतना के मजबूत स्तंभ अभिभावक आदरणीय श्री रामविलास पासवान जी के निधन से दुखी हूँ.शोषित, वंचित, उत्पीडि़त वर्ग उनके योगदान को सदैव याद रखेगा. भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने ट्वीट कर कहा कि गरीब, वंचित तथा शोषित के उत्थान में पासवान जी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।