विश्वास की हत्या : उदयपुर में युवक-युवती का कातिल निकला तांत्रिक

0

TheUdaipurUpdates. उदयपुर में युवक-युवती की हत्या के मामले में पुलिस ने एक तांत्रिक को गिरफ्तार किया है। भालेश जोशी (55) नाम के तांत्रिक ने मृतका से अपने संबंधों को छिपाने के लिए युवक-युवती की हत्या कर दी थी। तीनों एक दूसरे को काफी लंबे समय से जानते थे। तांत्रिक को डर था कि युवती के साथ उसके रिलेशन सबके सामने न आ जाए। मामले का खुलासा करते हुए एसपी विकास शर्मा बताया कि युवती सोनू (31) और उसका दोस्त राहुल (32) बार-बार उसे रिलेशनशिप की बात पर ब्लैकमेल कर रहे थे। भालेश जोशी गोगुंदा और ईसावल क्षेत्र में तांत्रिक के रूप फेमस है। उसने बताया कि 5 साल से सोनू उसके संपर्क में थी। अक्सर वो मिलने उसके आश्रम पर आती थी, तभी दोनों के बीच दोस्ती बढ़ गई। इसके बाद सोनू अपनी घरेलू समस्याओं को लेकर आती रहती थी। इस दौरान दोनों में रिलेशन बन गए।

राहुल और सोनू

तांत्रिक को संबंधों का खुलासा करने की धमकी दे रही थी सोनू

राहुल का परिवार भी तांत्रिक के आश्रम में आता रहता था। इस दौरान राहुल और सोनू की भी दोस्ती हो गई। जो धीरे-धीरे रिलेशनशिप में बदल गई। इस दौरान राहुल की पत्नी भी आश्रम आती रहती थी। तांत्रिक ने राहुल की पत्नी को बताया कि तुम्हारे पति के से संबंध है। इस पर पत्नी ने समाधान करने के लिए कहा था। वहीं, दूसरी तरफ सोनू तांत्रिक को ब्लैकमेल कर रही थी कि उसके और राहुल के रिलेशन के बारे में किसी को बताया तो तांत्रिक के साथ संबंधों का खुलासा कर देगी। आखिर परेशान होकर तांत्रिक ने पूरा प्लान बनाया।

मर्डर के दिन 7 नवंबर को आरोपी तांत्रिक दोनों युवक-युवती को खास पूजा करने का कहकर जंगलों में ले गया था। दोनों को वश में करने का ढोंग किया। फिर तांत्रिक ने दोनों से खुले में फिजिकल रिलेशन बनाने को कहा। इसी दौरान उसने दोनों की आंखों में फेविक्विक डाल दी। फेविक्विक आंख में जाते ही युवक-युवती छटपटाने लगे। तांत्रिक जोशी ने दोनों के मुंह पर पत्थर मार दिया। इसके बाद चाकू से भी वार किए। वो करीब 15 मिनट तक लगातार वार करता रहा, ताकि दोनों में से कोई जिंदा नहीं बच सके। इसके बाद मौके से भाग गया।

पुलिस गिरफ्त में आरोपी तांत्रिक भालेश जोशी। युवक-युवती पर वार करने के दौरान आरोपी के हाथ पर भी चोट लगी।

पुलिस गिरफ्त में आरोपी तांत्रिक भालेश जोशी। युवक-युवती पर वार करने के दौरान आरोपी के हाथ पर भी चोट लगी।

150 एमएल फेविक्विक लेकर पहुंचा था तांत्रिक

पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए बताया कि तांत्रिक युवक-युवती की हत्या की प्लानिंग पहले से कर रखी थी। इसके लिए उसने पहले से फेविक्विक भी इकठ्ठी की थी। आरोपी मौके पर एक-दो नहीं पूरी 150 एमएल फेविक्विक लेकर पहुंचा था। जो उसने हाथ में माला जपने के लिए बांधने वाले कपड़े के अंदर रखी थी। जंगल में युवक-युवती के पास जाते ही पूरी फेविक्विक उन के ऊपर उड़ेल दी। इस दौरान युवक-युवकी आपस में चिपक गए। आंखों में जलन मचने लगी। दोनों झटके से अलग हुए तो खाल खिंच गई।

ये था मामला
8 नवंबर को गोगुंदा थाना क्षेत्र उभेश्वरजी के जंगल में युवक-युवती के न्यूड शव मिले थे। रोड से करीब 300 मीटर अंदर जंगल में शव पड़े देखकर लोगों ने सूचना दी थी। युवक का प्राइवेट पार्ट भी कटा मिला था। एसएफएल की टीम ने माना था कि शवों को जलाने का भी प्रयास किया गया। युवक की पहचान राहुल मीणा (32) पुत्र चतरसिंह मीणा और युवती की मदार गांव निवासी सोनू (31) पुत्री भूरसिंह के रूप में हुई थी। युवक उदयपुर के अदवास के सरकारी स्कूल में टीचर था। शुरुआती जांच में मामला प्रेम-प्रसंग का लग रहा था। शवों के पास ही कपड़े और जूते मिले थे। युवक के कपड़ों के नीचे मोबाइल भी दबा मिला था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here