अनोखी छठा में वनभ्रमण को निकले महाकालेश्वर, दर्शनों से निहाल हुए शिवभक्त

0

उदयपुर। प्रन्यास अध्यक्ष श्री तेजसिंह सरूपरिया व श्रावण महोत्सव समिति के एडवोकेट सुन्दरलाल माण्डावत ने बताया कि आज द्वितीय श्रावणी सोमवार के अवसर पर अनोखी छटा न्योछावर करते हुए अभिजित वेला में यहां रानी रोेड़ स्थित महाकालेश्वर मंदिर में प्रभु श्री महाकालेश्वर के विग्रह स्वरूप को रजत पालकी में सवार करा मंदिर परिक्रमा करा मंदिर परिसर स्थित वाटिका पहुंचे जहां भक्तों ने प्रभु को वन भ्रमण कराया तथा भगवान को झूले झुलाये तत्पश्चात आरती कर पुनः पालकी को मंदिर सभा मण्डप में लाया गया जहां महाआरती की गई। इस दरम्यान शिव भक्तों ने भोलेनाथ के भजन व जयकारें लगाए तथा महिलाओं ने सवारी के आगे नृत्य व शिव भजन गाये।

सार्वजनिक प्रन्यास मंदिर श्री महाकालेश्वर के सचिव एडवोकेट चन्दशेखर दाधीच व के.क.े शर्मा ने बताया कि यहां रानी रोड़ स्थित श्री महाकालेश्वर महादेव मंदिर में आज सावन के द्वितीय सोमवार अवसर पर संक्षिप्त एवं पारंपरिक धार्मिक अनुष्ठान आयोजित किया। सूर्याेदय पूर्व से ही शिवभक्त सभा मण्डप में स्थित घट के माध्यम से जल चढ़ाने पहूंचने लगे। भोले के सैकड़ों भक्तो ने प्रातः 10 बजे तक महाकालेश्वर को जल अर्पण किया एवं शिव स्तुतियां की। बाद में सावन महोत्सव समिति के तत्वाधान में प्रातः 10ः30 बजे वैदिक मंत्रोचार के साथ महाकालेश्वर को सहस्त्रधारा जलाभिषेेेक व पंचामृत तथा विभिन्न पवित्र नदियांे से मंगवाए गए जल से अभिषेक किया गया। महाकालेश्वर को भव्य श्रृंगार धराया गया। इस दरम्यान प्रन्यास उपाध्यक्ष महिम दशोरा द्वारा प्रभु महाकालेश्वर को लघुरूद्री पाठ सुनाया गया। रजत पालकी सज्जा चतुर्भुज आमेटा, पुरूषोत्तम जीनगर, कमल चैहान द्वारा की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here