पांच माह गर्भवती महिला से युवकों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

राजसमंद। न्याय की गुहार लगाने एसपी ऑफिस पहुंची पीडि़ता और परिवार।

बेखौफ बाहर घुम रहे दुष्कर्मी, पीडि़ता को दे रहे धमकियां
राजसमंद, चेतना भाट। दरिंदगी की भी हद होती है, क्योंकि हैवानों के हाथों दुष्कर्म का शिकार हुई पीडि़ता को 2 माह बीत जाने के बाद भी अभी तक नहीं मिला। थाने में मुकदमा भी दर्ज करवाया लेकिन पुलिस ने दुष्कर्मियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की। इस पर न्याय ही गुहार लगाने मंगलवार को गर्भवती पीडि़ता ने एसपी ऑफिस पहुंची। यह मामला कुंवारिया थाना क्षेत्र के है जिसमें कुंवारिया के एक गांव में एक 5 माह की गर्भवती महिला के साथ दो युवकों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। इस पर महिला ने दो माह पूर्व कुंवारिया थाने पहुंच दुष्कर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। लेकिन थाने की पुलिस ने मामले को लेकर अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की। वहीं दुष्कर्मी बेखौफ बाहर घुम रहे है और महिला को धमकी भी दे रहे है। दुष्कर्मियों द्वारा रात दिन मिलने वाले धमकियों से परेशान होकर पीडि़ता मंगलवार को एसपी की चौखट पर पहुंच एसपी सुधीर चौधरी के समक्ष न्याय की गुहार लगाई है।

रास्ता रोक, खेत में ले जाकर किया दुष्कर्म

पीडि़ता ने एसपी को बताया कि भीलवाड़ा जिले के गंगापुरा थाने के उल्लई गांव निवासी मुकेश और उसके साथी गिरडिय़ा निवासी लक्ष्मण नाम के युवकों ने दो माह पूर्व उसके साथ सामूहिक रूप से दुष्कर्म किया। दोनों युवक बाईक पर सवार होकर मूंह पर कपड़ा बांध आए थे। उस दौरान पीडि़ता अपनी भैंसों को पानी पिलाने के लिए खेत से गांव की ओर ला रही थी। इसी दौरान युवकों ने पीडि़तों को रास्ते में रोककर जबरन पास ही के खेत में घसीट कर ले गए और सामुहिक रूप से दुष्कर्म किया। यहीं नहीं दोनों हैवानों ने पीडि़ता का मूंह बंद करने के लिए मंूह में मिट्टी डाल दी। इस दौरान महिला घायल हो गई। इसके बाद होश में आने पर जैसे-तैसे पीडि़ता ने फोन कर अपने पिता को बुलाना चाहा। लेकिन बात नहीं हो पाई। इसके बाद पीडि़ता ने अपने पति को फोन कर मौके पर बुलाया। पति के वहां पहुंचने पर पीडि़ता ने पति को सारा घटनाक्रम बताया। इस पर पीडि़ता का पति उसे उठाकर चिकित्सालय ले गया जहां पर पीडि़ता का उपचार किया गया। इसके बाद दोनों कुंवारिया थाने पहुंचे तथा दोनों दुष्कर्मियों मुकेश और लक्ष्मण के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज करवा। लेकिन मामले को दो माह बीत जाने के बाद भी पुलिस की ओर से दुष्कर्मियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं होते देख पीडि़ता ने एसपी कार्यालय पहुंच एसपी चौधरी के समक्ष अपनी आप बीती बताते हुए न्याय की गुहार लगाई है। इस सम्बन्ध में एसपी सुशीर चौधरी का कहना है कि पीडि़ता और उसका परिवार आया है। गर्भवती महिला के साथ दुष्कर्म होना बहुत गंभीर मामला है। पीडि़ता को जल्द ही न्याय दिलाया जाएगा तथा त्वरित कार्यवाही भी की जाएगी। वहीं अगर युवकों द्वारा पीडि़तों को किसी प्रकार की धमकियां दी जा रही है तो इसके लिए सम्बन्धित थानाधिकारी को पाबंद किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here