दिल्ली से पराजित होकर पिछली बार की चैंपियन पंजाब मुकाबले से बाहर

0

तृतीय नेशनल व्हीलचेयर क्रिकेट चैंपियनशिप-2022, आरसीए में सेमीफाइनल मुकाबले आज
उदयपुर। नेशनल व्हीलचेयर क्रिकेट चैंपियनशिप का तीसरा संस्करण 27 नवम्बर से नारायण सेवा संस्थान, डीसीसीआई, डब्ल्यूसीआई और राजस्थान रॉयल्स के संयुक्त तत्वावधान में उदयपुर चल रहा है। संस्थान अध्यक्ष प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि लीग मैच शृंखला के अंतिम दिन विभिन्न टीमों के बीच 6 मैच हुए। 16 टीम से चार ग्रुप में बंटी प्रदर्शन तालिका में श्रेष्ठ शीर्षस्थ 4 टीम के बीच 2 सेमीफाइनल शुक्रवार को प्रात: 8.30 बजे व 12.30 बजे आरसीए ग्राउंड में खेले जाएंगे। उन्होंने कहा कि हर टीम ने बहुत ही शानदार खेल का परिचय दिया। सेमीफाइनल में विजित दो टीम विश्व दिव्यांगता दिवस पर फाइनल में भिड़ेगी। व्हीलचेयर की चैंपियनशिप के लीग मैचों के चौथे दिन नारायण पैरा स्पोर्टस एकेडमी मैदान पर सुबह के सत्र में मुम्बई बनाम छत्तीसगढ़ मैच हुआ। टॉस छत्तीसगढ़ ने जीतकर मुम्बई को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। मुम्बई की टीम ने 20 ओवर में 3 विकेट पर 206 रन का स्कोर खड़ा किया। जवाब में छत्तीसगढ़ की टीम 19.3 ओवर में 176 रन पर ऑल आउट हो गई। नतीजन मुम्बई यह मुकाबला 30 रन से जीती। 42 गेंद पर 14 चौके मार 80 रन बनाने वाले गणेश शेलरमैन ऑफ द मैच रहे। इधर रेलवे ग्राउण्ड पर बडौदा बनाम हरियाणा के मुकाबले में बडौदा ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया जो कि गलत साबित हुआ। पूरी टीम 6.5 ओवर में मात्र 25 रन पर ही टीम सिमट गई। घातक गेंदबाजी का कहर बरपाने वाली हरियाणा ने 2.2 ओवर में 1 विकेट के नुकसानपर लक्ष्य पा लिया। मैच के हीरो मोनू मास्टर ने 3.5 ओवर में 1 ओवर मेडन फेंकते हुए 7 रन देकर 7 विकेट चटकाए। जिन्हें मैन ऑफ द मैच का खिताब दिया गया। आरसीए ग्राउण्ड पर पहले सत्र का मैच राजस्थान बनाम आन्ध्रप्रदेश में राजस्थान ने टॉस जीतकर पहले बैंटिग चुनी। शानदार बल्लेबाजी का मुजायरा करते हुए 20 ओवर में 4 विकेट पर 215 रन का टारगेट आन्ध्रप्रदेश को दिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी आन्ध्रप्रदेश की टीम 20 ओवर में 5 विकेट पर 139 रन ही जुटा पाया। राजस्थान ने 76 रन से यह मुकाबला जीतते हुए श्रृखंला में पहली जीत का स्वाद चखा। मैन ऑफ द मैच रामखिलाड़ी मीणा ने 46 गेंद पर 62 रन बनाए तथा 4 ओवर में 25 रन देकर 2 महत्वपूर्ण विकेट लिए जिन्हें उदयपुर के जिला खेल अधिकारी शकील हुसैन ने ट्रॉफी और प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया।

सेमीफाइनल मैच-

ग्रुप ए की टीम हरियाणा ने लीग मैच में 2 मैच जीतकर सेमीफाइनल में पहुँची है। बाकी अन्य टीम ग्रुप बी से उत्तराखंड, सी से यूपी तथा डी से दिल्ली, सभी टीमें अविजित रही है।

दूसरी पारी में –
नारायण पैरा स्पोट्र्स अकादमी ग्राउंड पर दिल्ली और पंजाब के मध्य खेला गया। जिसमें टॉस पंजाब ने जीत कर दिल्ली को पहले बल्लेबाजी के लिए न्यौता दिया । दिल्ली की टीम ने 20 ओवर में 5 विकेट पर 234 रन बनाए। लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब की टीम निर्धारित 20 ओवर में 4 विकेट पर 191 रन ही बना सकी। यह मैच दिल्ली ने जीतते हुए सेमीफाइनल का टिकट पक्का किया। इस मैच में गत विजेता पंजाब का फिर ट्रॉफी पर कब्जा करने का सपना चकनाचूर हो गया। मैन ऑफ द मैच दिल्ली के सौरभ मलिक ने 54 गेंद पर 12 चौके व 9 छक्के की मदद से 126 बनाए। दूसरी तरफ रेलवे मैदान पर मध्यप्रदेश- कर्नाटक के बीच मुकाबला हुआ। टॉस कनार्टक ने जीतकर फील्डिंग चुनी। मध्यप्रदेश ने पहले बेटिंग करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट पर 171 रन का टारगेट विरोधी टीम को दिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी कर्नाटक टीम 20 ओवर में 5 विकेट के नुकसान पर 162 रन तक ही पंहुच सकी। यह मुकाबला 9 रन से जीती। मैन ऑफ द मैच गोलू चौधरी रहे । जिन्होंने 34 बोल पर 39 रन तथा 4 ओवर में 28 रन खर्च कर 2 विकेट लिए।
इधर आरसीए ग्राउंड पर हुए मैच में गुजरात और उत्तराखंड का मुकाबला बहुत रोचक रहा । टॉस जीतकर उत्तराखंड ने गुजरात को पहले बल्लेबाजी के लिए बुलाया। गुजरात ने 20 ओवर में 8 विकेट पर 154 रन बनाये। जबाब में उत्तराखंड टीम 16.3 ओवर में 156 रन बना सेमीफाइनल में जगह बनाई। मैन आफ द मैच अफताब अंसारी ने 45 गेंद पर 106 रन का शानदार शतक जड़ा और 3 महत्वपूर्ण विकेट अपने नाम किए। बडग़ांव उपखंड अधिकारी रमेश बहेडिय़ा ने टॉफी ओर शिल्ड भेंट कर उन्हें सम्मानित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here