दिवेर थाना एएसआई विश्नोई के अत्याचारों से परेशान होकर की कार्रवाही की मांग
दिवेर थाना एएसआई विश्नोई ने पीडि़ता सहित पोते व परिजनों से की मारपीट
राजसमंद, चेतना भाट। भीलवाड़ा जिले के रायपुर के टोंकरा निवासी एक 80 वर्षीय बुजूर्ग महिला बंशी बाई पत्नी नाथुलाल सालवी ने जिले के दिवर थाना एएसआई द्वारा धक्का मुक्की करने, पुलिस कर्मियों के साथ मिलकर नाक से सोने की नथ व मादलिया रामनामी चुरा लेने एवं पोते को चोरी के झूठे मुकदमें में फंसाकर गंभीर रूप से मारपीट करने पर जिला पुलिस अधीक्षक के पत्र सौंप आरोपी एएसआई के खिलाफ कार्यवाही कर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। पत्र में पीडि़त बुजूर्ग महिला बंशी बाई ने बताया कि दिवेर थाना एएसआई बल्लूराम विश्नोई ने पीडि़ता के पोते को 4-5 दिन पूर्व गंगापुर जेल से दिवेर पुलिस चौकी कुंआथल लेकर चला गया। जहां पर एएसआई ने पीडि़ता के पोते के साथ बिना किसी रिमाण्ड के आदेश के गंभीर रूप से मारपीट की। इससे आहत होकर पीडि़़ता का पोता मानसिक रूप से अवसाद में आ गया और पागल हो गया और मरणासन्न की स्थिति में पहुंच गया है। 20 दिसम्बर को करीब 5 बजे आरोपी एएसआई बल्लूराम विश्नोई चार पुलिस कर्मियों के साथ गाड़ी के माध्यम से पीडि़़ता के गांव रायपुर पहुंचा जहां पर परिजनों के सामने पीडि़ता के पोते के कपड़े उतार कर गंभीर रूप से मारपीट की। परिजन के रोने एवं बिलखने पर एससआई ने परिजनों के साथ भी धक्का मुक्की की। साथ ही पीडि़़त बुजूर्ग महिला के साथ भी धक्का मुक्की करते हुए नाक से 60 वर्ष पुरानी सोने की नथ व गले से रामनामी मादलिया तक छीन लिया। वहीं पीडि़ता के पति के साथ भी पुलिसकर्मियों द्वारा मारपीट की गई। पीडि़ता बुजूर्ग महिला बंशी बाई ने जिला पुलिस अधीक्षक भुवन भूषण यादव को पत्र सौंप कर दिवेर थाना एएसआई बल्लूराम विश्नोई द्वारा पद का दुरुपयोग कर किए जा रहे अत्याचार के खिलाफ कार्यवाही कर न्याय दिलाने की मांग की है।

घाटी में हिंदू परिषद की दुर्गा वाहिनी इकाई का गठन

राजसमंद, चेतना भाट। कुंवारिया तहसील के घाटी ग्राम पंचायत स्थित देवनारायण मंदिर में आयोजित विहिप एवं बजरंग दल की आयोजित बैठक में प्रखण्ड संयोजक किशन प्रजापत, विहिप बजरंग दल महाविद्यालय प्रमुख पुष्कर गाडरी के नेतृत्व में विहिप की दुर्गा वाहिनी ईकाई का गठन किया गया। जिसमें उषा रेगर को संयोजिका बनाया गया। इस मौके पर गाडरी ने कहा कि आज देश में लड़कियों का हर क्षेत्र में आगे आना आवश्यक है। हर क्षेत्र में महिलाएं पुरुषों की की अपेक्षा अधिक अच्छा काम कर रही है उन्हें समाज में उनका उनका हक दिलाने के लिए ही दुर्गा वाहिनी का गठन किया गया है। इस अवसर पर विहिप दुर्गा वाहिनी सह संयोजिका नीतू राठौड़, गौ रक्षा प्रमुख सुमन राठौड़, विद्यार्थी प्रमुख दुर्गा गाडरी, सह प्रमुख कुसुम गाडरी, पर्यावरण मंत्री दीपिका भील, सहमंत्री देऊ भील, सूचना मंत्री टीना सालवी, सहमंत्री ममता सालवी, सुरक्षा प्रमुख आशा सालवी, सह सुरक्षा प्रमुख गोपी सालवी सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।