टॉल पर लगने वाले जाम से मिलेगी निजात
वाहन धारकों ने अपने वाहनों पर फास्टैग लगाना किया शुरू
राजसमंद, चेतना भाट। सडक़ परिवहन और राजमार्ग मत्रांलय भारत सरकार के नीतिगत निर्णय के अनुसार 1 जनवरी 2021 से सभी राष्ट्रीय राजमार्गो पर स्थित टोल प्लाजाओ पर वाहनो से टोल कलेक्शन का भुगतान फास्टेग के द्वारा ही लिया जाएगा। जिसकों लेकर एनएचआई की ओर से सभी टॉल प्लाजा संचालकों को निर्देशित किया जा चुका है। उसके बाद टोल प्लाजा पर टोल कलेक्शन का नगद भुगतान बन्द हो जायेगा। वहीं बिना फास्टैग लगे वाहनों को टॉल प्लाजा पर नगद भुगतान करने पर वाहन चालक को टोल राशि के बराबर पेनल्टी देनी होगी। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा घोषणा की गई है कि सम्पूर्ण भारतवर्ष में 1 जनवरी 2021 से सभी राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित टोल प्लाजा पर वाहनो से टोल कलेक्शन का भुगतान 100 प्रतिशत फास्टेग द्वारा लिए जाने का लक्ष्य रखा गया है। उसके बाद टॉल प्लाजा पर लगने वाली लम्बी-लम्बी वाहनों की लाईनों से छूटकारा मिल जाएगा। फास्टैग अनिवार्यता के बाद वाहन धारकों ने अपने वाहनों पर फास्टैग लगाना शुरू कर दिया है। एनएचआई के प्रेाजेक्ट डायरेक्टर लोकेशसिंह राजपुरोहित ने बताया कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण, परियोजना कार्यान्वयन इकाई उदयपुर के अन्र्तगत आने वाले 6 टोल प्लाजा उदयपुर-अहमदाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 स्थित खाण्डी ओबरी (खेरवाडा),उदयपुर-चितौडगढ राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 76 स्थित नारायणपुरा (मगंलवाड), उदयपुर-गोमती चौराहा राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 पर स्थित नेगडीया एवं माण्डावाडा और उदयपुर-पिण्डवाडा राष्ट्रीय राजमार्ग सं 76 पर स्थित गोगुन्दा एवं मालेरा टोल प्लाजा पर सम्पूर्ण तैयारी की जा चुकी है। सभी टोल प्लाजाओ पर विभिन्न बैंको, पेटीएम, आईसीआई बैंक एवं दुरसंचार कम्पनी एयरटेल द्वारा सेल पाईट संचालित किए जा रहे है।

फोरलेन किनारे चयनित पेट्रोल पंप मिलेंगे फास्टैग

इसके तहत सडक़ परिवहन और राजमार्ग मत्रांलय भारत सरकार एवं पेट्रोलियम मत्रांलय भारत सरकार द्वारा जारी किए गए निर्देशो कि अनुपालना में एचपीसीएल उदयपुर द्वारा राष्ट्रीय राजमार्गांे पर संचालित निम्न पेट्रोल पम्पो पर दो फास्टेग के सेल पाईट संचालित किये जा रहे है।जिसमें नागदा पेट्रोल पम्प उदयपुर-पिण्डवाडा राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 76 जसवन्तगढ, श्रीकार पेट्रोल पम्प उदयपुर-पिण्डवाडा राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 76 बेकरिया, रोनक पेट्रोल पम्प उदयपुर-चितौडगढ राष्ट्रीय राजमार्ग सं.76 भटेवर, मनिष ओटो सर्विस सेन्टर उदयपुर-चितौडगढ राष्ट्रीय राजमार्ग सं 76 डबोक, एडहोक श्रीकार पेट्रोल पम्प उदयपुर-अहमदाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 रतनपुर जिला डूंगरपुर, विजयलक्ष्मी पेट्रोल पम्प खेरवाडा, वैष्णवी पेट्रोल पम्प भुवाली, कमल पेट्रोल पम्प उदयपुर-अहमदाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या टीडी, चारभुजा पेट्रोल पम्प उदयपुर-गोमती चौराहा राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 जनावद, भगवान पेट्रोल पम्प नेगडीया राजसमन्द पर सैल पॉइंट तैयार किए गए है।

टोल प्लाजा के दोनों छोर पर मिल रहे है फास्टैग

उदयपुर-गौमती टॉलप्लाजा के प्रबंधक अरविंदसिंह ने बताया कि एनएचआई के निर्देशानुसार हमारे उदयपुर-गौमती नेशनल हाईवे स्थित नेगडिया एवं माण्डावाड़ा तथा राजसमंद-भीलवाड़ा नेशनल हाईवे पर संचालित रूपाखेड़ा एवं मुझरास टॉल प्लाजा के सभी लेन में फास्टैग अनिवार्यता को लेकर तकनिकी तैयारी पूर्ण कर ली है। फास्टैग अनिवार्यता के बाद टॉल प्लाजा के दोनों छोर पर फास्टैग के सैल पॉइंट बढ़ा दिए गए है। दिनभर वहा से गुजरने वाले वाहन चालक आवश्यक दस्तावेज देकर अपनी गाडिय़ों पर फास्टैग लगा रहें है। फास्टैग लगाने के लिए वाहन मालिकों को आरसी एवं आधार कार्ड के साथ एन्ड्रोएड मोबाईल का होना आवश्यक है। जैसे जैसे अंतिम तिथि नजदीक आने लगी है वैसे-वैसे वाहन धारकों ने अपने वाहनों पर फास्टैग लगाना शुरू कर दिया है। 1 जनवरी 2021 से टॉलप्लाजा के किसी भी लैन में गुजरने वाले वाहनों के लिए नकद लेनदेन सुविधा उपलब्ध नहीं रहेगी। इसके अलावा भी बिना फास्टैग के गुजरने वाले जो वाहन होंगे उनसे दूगुनी पैनल्टी वसूल की जाएगी।

कुल वाहनों के 30 प्रतिशत वाहन फास्टैग से वंचित

वर्तमान में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण परियोजना कार्यान्वयन इकाई उदयपुर के अन्र्तगत आने वाले 6 टोल प्लाजाओ पर औसत 70 प्रतिशत वाहन फास्टैग से भुगतान कर रहे है। 30 प्रतिशत वाहनो द्वारा कैश में भुगतान किया जा रहा है जो 1 जनवरी 2021 से बन्द कर टोल प्लाजा पर वाहनो से टोल कलेक्शन का भुगतान 100 प्रतिशत फास्टेग द्वारा लिए जाने का लक्ष्य रखा गया है। बिना फास्टेग के कुछ वाहन, फास्टेग लेन में जाने से नियमानुसार नवम्बर माह में कुल 11 हजार 9 सौ 27 वाहनो से 12 लाख 5 हजार 2 सौ रूपये का जुर्मना वसूल किया गया है। फास्टेग के बिक्री केन्द्र से नया फास्टेग खरीदने के लिए वाहन की आरसी एवं एक पहचान पत्र कि प्रति आवश्यक होगी। फास्टेग खरीदने के लिए विभिन्न बैंको एवं एजेंसियो द्वारा सिक्यूरिटी डिपोजिट एवं फास्टेग का मूल्य निर्धारि किए गए है, जो लागू होगा।

बाघाना, छापाली एवं दिवेर की वंचित फोरलेन का जिम्मेदार कौन?

राजसमंद। करीब 474 करोड़ की लागत का गौमती से ब्यावर तक लगभग 96 किमी लम्बे फोरलेन निर्माण कार्य का शिलान्यास व भूमि पूजन किया। लेकिन इसमें बाघाना से मादा की बस्सी का लगभग 12 किमी का मार्ग छोड़ दिया गया है। यहां मात्र दो लेन सडक़ ही रहेगी। युवा नेता डॉ. वीपीसिंह काछबली ने इस वर्चुअल कार्यक्रम के तहत प्रस्तावित सडक़ निर्माण में इस 12 किमी क्षेत्र के मार्ग को छोड़ देने पर को हास्यप्रद बताते हुए कहा कि ऐसे अधुरे निर्णय लेते समय नीति निर्माताओं का विवेक कहां चला जाता है। वन विभाग क्या सरकार के नियंत्रण में नहीं है? यह कैसा विरोधाभास है जिसमें सरकार का एक विभाग दूसरे विभाग को एनओसी नहीं दे रहा। युवा नेता डॉ. वीपीसिंह ने फोरलेन के बाद टूलेन को लेकर होने वाली दुर्घटनाओं पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जहां पर फोरलेन पर स्पीड में वाहन दौड़ते है, ऐेसे में अचानक दो लेन आने से वाहनों की गति सीमा तय नहीं होगी और कई सडक़ दुर्घटनाएं हो सकती है। जब तक इस वंचित क्षेत्र में भी फोरलेन नहीं बनेगी, तब तक सम्पूर्ण फोरलने हाईवे की सार्थकता सिद्ध नहीं होगी। वन विभाग की एनओसी के नाम पर यह केवल घटिया मजाक है। इसके लिए जिम्मेदार नेता इस और ध्यान दें और इस छोड़े गए क्षेत्र को भी फोरलेन में शामिल करें।