राजसमंद, चेतना भाट। पुष्टिमार्गीय तृतीय पीठ प्रन्यास द्वारकाधीश मंदिर में शनिवार को प्रभुश्री द्वारकाधीश को सोने के बंगले में विराजित किया गया। इस मौके पर प्रभु को विशेष श्रंृगार धराया गया। जिसमें श्रीमस्तक पर छज्जे दार पाग जिस पर श्वेत जरी की गोटी, काम की चंद्रिका, श्याम गेरदार वागा वैसी सूथन वैसे ही मौजा अंगीकार करवाए गए। साथ ही हीरा के आभरण, श्वेत चिकने ठाड़े वस्त्र, श्वेत जरी का गदल, श्याम फरगुल, श्वेत जरी के बंद, माला कट पेज का श्रीनगार प्रभु को धराया गया। इसी के साथ ठाकुरजी को राजभोग के दर्शन के दौरान सोने के बंगले में बिराजित किया गया। इन दर्शनों में कीर्तनकारों द्वारा कीर्तन का गान किया। ठाकुरजी के दर्शनार्थ मंदिर पहुंचे श्रद्धालूओं को कोरोना गाइड लाइन के अनुसार दर्शन करवाए गए।

अब से खुलेंगे 5 दर्शन

अब द्वारकाधीश के मंदिर में श्रद्धालुओं को पांच दर्शन करवाए जाएंगे। तृतीय पीठाधीश्वर गोस्वामी बृजेश कुमार महाराज की आज्ञा अनुसार अब से श्रद्धालू पहले से चले आ रहे मंगला राजभोग और आरती के दर्शनों के साथ-साथ प्रात: श्रृंगार के दर्शन और शाम को उथापन के दर्शन कर पाएंगे। लेकिन इसके लिए श्रद्धालुओं को राज्य और केंद्र सरकार के द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन का पालन करना जरूरी होगा।