• राजनीतिक जंग में हमेशा विजय रहीं किरण … कोरोना की जंग से हार गई
    – उदयपुर में आज होगा अंतिम संस्कार
    राजसमंद, चेतना भाट। राजनैतिक जीवन में कई जंग जीतने वाली स्वभाव से ही हंसमुख व हर जरूरतमंद की सहयोगी व कार्यकर्ताओं के लिए दीदी के रूप में पहचान रखने वाली उदयपुर की पहली महिला सभापति, पूर्व सांसद, राजस्थान की पूर्व केबिनेट मंत्री व वर्तमान में राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी आखिरकार कोरोना से लड़ते-लड़ते जिंदगी की जंग हार गई। वें सभी को सावधानी बरतने का भी सख्त संदेश दे गईं। इस खबर को जिसने भी सुना हर कोई सन्न रह गया। गौरतलब है कि राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी (59) का रविवार देर रात गुरुग्राम के मेदांता मेडिसिटी अस्पताल में निधन हो गया। इसके बाद सोमवार को मेदांता अस्पताल से सडक़ मार्ग से उनकी पार्थिव देह को उदयपुर ले जाया गया। देर शाम उनकी पार्थिव देह उदयपुर पहुंची, जहां सोमवार सुबह 10 बजे कोविड गाइड लाइन की पालना के अनुरूप उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। माहेश्वरी के निधन की खबर सुनकर हर कोई क्षुब्द रह गया। कई राजनैतिक पदाधिकारियों एवं सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों ने शोक संवेदना व्यक्त कर श्रद्धाजंलि दी। गौरतलब है कि गत दिनों कोटा नगर निकाय चुनाव में प्रभारी के तौर पर पार्टी ने जिम्मेदारी निभाई थी। वहीं पर उनकी तबीयत खराब होने पर उनको उदयपुर ले जाया गया और वहीं पर उनका इलाज हुआ था। 28 अक्टूबर को उनकी कोरोना जांच की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। वहां पर हालत बिगडऩे पर 7 नवंबर को एयर एंबुलेंस से माहेश्वरी को उदयपुर से मेदांता अस्पताल ले जाया गया था। किरण माहेश्वरी को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी।
  • सडक़ मार्ग से पार्थिव देह पहुंची उदयपुर
  • वे पिछले 22 दिनों से मेदांता के आईसीयू में एडमिट थीं। पिछले महीने कोटा नगर निगम चुनाव में भाजपा प्रभारी रहते हुए कोराना संक्रमित हुई थी। हालांकि उनकी पहली कोरोना रिपॉर्ट नेगटिव आ गई लेकिन रविवार देर रात इंफेक्शन ज्यादा होने से उनका निधन हो गया। सोमवार को सडक़ मार्ग से राजसमंद विधायक रही किरण माहेश्वरी के शव को उदयपुर लाया गया। इस दौरान दिल्ली से लगाकर उदयपुर तक जगह-जगह पुष्पवर्षा कर उनको अंतिम विदाई दी गई। वहीं किरण महेश्वरी के निधन पर भाजपा के राष्ट्रीय नेताओं सहित स्थानिय पदाधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों ने संवेदना व्यक्त की है और इसे भाजपा और प्रदेश के लिए एक बड़ी क्षति बताया है। किरण ने राजनीति में पहला कदम उदयपुर नगर परिषद में पार्षद का चुनाव जीतकर रखा। भाजपा से जुड़ी किरण उदयपुर की प्रथम महिला सभापति बनी थी। सभापति बनने के बाद किरण ने भाजपा को ऊंचाइयां देने में कोई कमी नहीं रखी। उदयपुर-राजसमंद संसदीय क्षेत्र से सांसद बन दिल्ली में मेवाड़ का प्रतिनित्व किया। भाजपा में राजस्थान में कई पदों पर रहते हुए भाजपा राष्ट्रीय महिला मोर्चा अध्यक्ष पद को सुशोभित किया। वर्ष 2013 में राजसमंद से विधायक बन वसुंधरा राजे सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री व जलदाय विभाग में कैबिनेट मंत्री का दायित्व निभा कर मेवाड़ में कई विकास कार्य किए। महिला होते हुए भी वो बेबाकी से बात करती थीं, दूर दृष्टी सोच रखती थीं। हर समुदाय को साथ लेकर चलने वाली मेवाड़ की किरण को भाजपा पदाधिकारियों सहित आमजन ने श्रद्धाजंलि देकर अंतिम विदाई दी।
  • दुर्गा वाहिनी की प्रमुख के तौर पर शुरू किया किरण माहेश्वरी ने राजनीतिक करियर
  • किरण माहेश्वरी ने साल 1987 से 90 तक हिंदू संगठन दुर्गा वाहिनी की प्रमुख के तौर पर राजनीतिक करियर शुरू किया। इसके बाद साल 1992 से 1995 तक वह राजस्थान के सोशल वेलफेयर बोर्ड की मेंबर बनी। साल 1990 से 1992 तक भाजपा महिला मोर्चा की उदयपुर जिला महामंत्री रही। इसके बाद में साल 1993 से 1994 तक उनको महिला मोर्चा देहात की जिलाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई। साल 1994 में उदयपुर नगर परिषद पार्षद का चुनाव किरण माहेश्वरी ने लड़ा और पार्षद चुनाव जीतकर उन्हें उदयपुर की सभापति बनाया गया। साल 1999 तक उन्होंने सभापति के रूप में अपना कार्यकाल पूरा किया। साल 2002 से 2003 तक वह भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य बनी। साल 2004 में उदयपुर-राजसमंद संसदीय क्षेत्र से सांसद चुनी गई। साल 2004 में उन्हें भाजपा राष्ट्रीय महासचिव और 2007 में महिला मोर्चा राष्ट्रीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई। इसके बाद में साल 2008 में किरण माहेश्वरी राजसमंद विधायक बनीं, साल 2013 में एक बार फिर से चुनाव जीत विधानसभा पहुंचीं थीं और वसुंधरा सरकार में मंत्री भी बनीं। वर्ष 2018 में राजसमंद विधानसभा से तीसरी बार चुनाव लड़ा भार मतों से विजय होकर पुन: विधानसभा में पहुंची। इसके अलावा माहेश्वरी अखिल भारतीय माहेश्वरी महासभा, वैश्य महा सम्मेलन, इण्डियन लॉयन्स परिसंघ, भाविप, मृगेन्द्र भारती, सावरकर स्मृति संस्थान जेसे कइ्र संगठनों में पदाधिकरी एवं सदस्या भी थीं।
राजसमंद। वर्ष 2018 में 17 नवम्बर को राजसमंद विधानसभा से तीसरी बार भाजपा प्रत्याशी के तौर पर नामांकन भरने जाती दिवंगत विधायक किरण माहेश्वरी व जीत के बाद समर्थकों के साथ खुशी जाहिर करती किरण माहेश्वरी। (फाइल फोटो)
  • विधायक माहेश्वरी के निधन पर कांग्रेसजनों ने जताया शोक
  • विधायक किरण माहेश्वरी के आकस्मिक निधन पर जिला कांग्रेस कमेटी ने शोक व्यक्त किया एवं पार्थिव देह के राजसमंद पहुँचने पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर, पीसीसी सदस्य हरिसिंह राठौड़, गुणसागर कर्णावट, पूर्व जिलाध्यक्ष नारायणसिंह भाटी, पूर्व विधायक गणेशसिंह परमार, बंशीलाल गहलोत, ब्लॉक अध्यक्ष शांतिलाल कोठारी, सुन्दरलाल कुमावत, जिला महासचिव किशनलाल गाडरी, महामंत्री चुन्नीलाल पंचौली, सचिव कूलदीप शर्मा, नेता प्रतिपक्ष अशोक टांक, सेवादल जिलाध्यक्ष पुष्कर श्रीमाली, कांग्रेस नगर अध्यक्ष बहादुरसिंह चारण, पार्षद नारायण सुथार सहित मौजूद कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
  • जिले में भाजपा को गहरा झटका
  • राजसमंद जिले में भाजपा को किरण माहेश्वरी के आकस्मिक निधन से चौथा झटका लगा है। इससे पहले 27 मई 2019 को पूर्व सासंद हरिओमसिंह राठौड़ और फरवरी 2008 में नाथद्वारा के तत्कालिन विधायक कल्याणसिंह चौहान का कैन्सर की बिमारी के चलते निधन हो गया था। वहीं वर्ष 2008 में तत्कालिन जिला प्रमुख नरेन्द्रसिंह सोलंकी का भी सडक़ दुर्घटना में निधन हो गया था।
  • विधायक किरण माहेश्वरी की पार्थिव देह पर राजसमन्द की जनता ने दी पुष्पाजंलि
  • विधायक किरण माहेश्वरी के निधन पर जब पार्थिव देह सडक़ मार्ग द्वारा राजसमन्द की धरा में प्रवेश किया तो भीम से लेकर बिलोता तक राजसमन्द की जनता ने किरण माहेश्वरी के लिए घंटो खड़े रह कर के पुष्पांजलि अर्पित की गई। भाजपा जिला मीडिया प्रवक्ता अरविंदसिंह भाटी ने बताया कि विधायक किरण माहेश्वरी की पार्थिव देह भीम में जैसे ही 3 बजे पहुंची तो पूर्व विधाय हरिसिंह रावत के नेतृत्व में एम्बुलेंस जिसमे पार्थिव देह लाई जा रही थी उस पर पुष्प से वर्षा की। कामली घाट में भाजपा जिलाध्यक्ष वीरेंद्र पुरोहित, जिला महामंत्री सुनील जोशी, शोभालाल रेगर, मंत्री महेंद्रसिंह चौहान, अजय सोनी के नेतृत्व में पार्थिव देह पर पुष्प वर्षा करके श्रद्धांजलि अर्पित की। गोमती चौराहा पर पहुंची तो कुंभलगढ़ विधायक सुरेन्द्रसिंह राठौड़, महेश आचार्य, करणसिंह राव, हरिसिंह राव के नेतृत्व में नाथूगुर्जर व गोपाल गुर्जर, कमला जोशी सहित कार्यकर्ताओ ने पुष्पांजलि अर्पित की। पडासली, केलवा में कर्णवीरसिंह राठौड़ के नेतृत्व में दिनेश बडाला, अरविंदसिंह राठौड़, नानालाल सिंदल, मुकेश जोशी व पसुन्द में मार्बल एसोसिएशन के द्वारा पुष्पांजलि अर्पित की। जिला मुख्यालय के राजनगर पर पार्थिव देह पहुंची वहां पर कई कार्यकर्ता फफक कर रो पड़े जिनमे मंडल अध्यक्ष दिग्विजयसिंह भाटी, सभापति सुरेश पालीवाल सहित अन्य कार्यकर्ता के आँसू नही रुक रहे थे। राजनगर में मंडल अध्यक्ष सुभाष पालीवाल, राजकुमार अग्रवाल, पूर्व पालिकाध्यक्ष अशोक रांका, दिनेश पालीवाल, नेताप्रतिपक्ष अशोक टांक, पूर्व जिलाध्यक्ष नंदनलाल सिंघवी, पूर्व प्रधान भानु पालीवाल, पार्षद हिम्मत मेहता, हेमंत रजक, नारायणलाल सुथार, मोहन कुमावत, कुशलेन्द्र दाधीच, उत्तम कावडिया, पूर्व नगर अध्यक्ष महेन्द्र टेलर, भाजयुमो जिलाध्यक्ष जगदीश पालीवाल सहित सेंकडो कार्यकर्ताओ ने पुष्पाजंलि अर्पित की उसके पश्चात पीपरड़ाएबड़ारडा में गणेश पालीवाल, वेणीराम कुमावत के अलावा अन्य कार्यकर्ताओ ने पुष्पांजलि अर्पित की नाथद्वारा नगर में पहुंचने पर महेशप्रताप सिंह चौहान, शम्भूसिंह, सुनील सुराणा, योगेंद्रसिंह राठौड़ के अलावा अन्य कार्यकर्ताओ ने पुष्पांजली अर्पित कर श्रद्धंाजलि दी।
  • जिला पत्रकार परिषद ने भी जताई शोक संवेदना
  • जिला पत्रकार परिषद ने पूर्व मंत्री व विधायक किरण माहेश्वरी के आकस्मिक निधन पर गहरा शोक व दु:ख प्रकट किया। पत्रकार संघ के जितेंद्र पालीवाल, नरेंद्र पुबिया, मुबारिक शुक्रिया, तरुण जोशी, सुरेश भाट, कमल किशोर पालीवाल, ललित चोरडिय़ा, आशीष चौधरी, कपिल पारीक सहित समस्त पत्रकारों ने दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की।
  • कार्यकर्ताओं ने दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि
  • राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी के निधन की जानकारी मिलने के साथ ही जिले भर में शोक की लहर छा गई। कुंवारिया तहसील मुख्यालय के निकट स्थित निलकण्ठ महादेव मंदिर प्रांगण में विधायक के निधन पर शोक सभा का आयोजन किया गया। जिसमें पूर्व विधायक बंशीलाल खटीक, पंचायत समिति भाजपा प्रत्याशी कुसुम तांतेड़, प्रवीण पीपाड़ा, रतन खटीक, मुकेश शर्मा, भाजपा अजा मोर्चा जिलाध्यक्ष सुखदवे यादव, पूर्व सरपंच यशोदा देवी पोरवाल, मांगीलाल कीर, भाजपा जिला मंत्री रामेश्वर साहू, भाजयुमो मंडल महामंत्री अजय प्रजापत, विपीन तांतेड़, भाजपा आईटी सेल जिला संयोजक गिरीराज काबरा, आदि सहित कई कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों ने शोक व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। इसी तरह चारभुजा तहसील कार्यकर्ताओं की ओर से भी विधायक माहेश्वरी के निधन गहरा शोक व्यक्त किया है। विधायक के निधन पर नाथुलाल गुर्जर, पूर्व प्रधान कमला जोशी, शांतिलाल टेलर, सेवंत्री सरपंच विकास दवे, मंडल अध्यक्ष नारायणसिंह सोलंकी, जिला महामंत्री गोपाल गुर्जर सहित कई कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों ने शोक व्यक्त करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की।
  • विधायक के निधन पर आज बंद रहेंगे प्रतिष्ठान
  • पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं विधायक किरण माहेश्वरी के निधन पर मंगलवार को होने वाले विधायक के अंतिम संस्कार कार्यक्रम को लेकर प्रात: 11 बजे तक समस्त व्यापार मंडल सोसायटी अध्यक्ष प्रहलाद वैष्णव की ओर से समस्त व्यापारिया से अपने प्रतिष्ठान बंद रखकर श्रद्धांजलि अर्पित करने का आह्वान किया। समस्त व्यापार मण्डल सोसायटी सचिव प्रदीप खत्री ने बताया कि विधायक माहेश्वरी के आकस्मिक निधन से एक बहुत बड़ी नेत्री को खो दिया है जिसकी कमी तो कोई भी पूरी नहीं कर पाएगा। मीडिया प्रभारी नर्बदाशंकर पालीवाल ने बताया कि मंगलवार सांयकाल 5 बजे पण्डित दीनदयाल उपाध्याय सर्कल पर कोरोना गाइड लाइन को ध्यान में रखते हुए श्रद्धाजंलि दी जाएगी। विधायक किरण माहेश्वरी के निधन पर श्रद्धाजंलि के रूप में खाद्यान्न व्यापार मंडल कांकरोली, वस्त्र व्यापार संघ एवं सर्राफा व्यापार संघ ने मगलवार दोपहर 12 बजे तक अपने अपने प्रतिष्ठान बंद करने का निर्णय लिया। यह जानकारी खाद्यान्न व्यापार मंडल कांकरोली के महामंत्री हिम्मत कुमावत ने दी।

  • किरण माहेश्वरी के जीवन में सफलता के अविस्मरणीय महत्वपूर्ण पल
  • 1- किरण माहेश्वरी का जन्म 29 अक्टूबर 1961 को मध्यप्रदेश के रतलाम में हुआ था। जन्म के बाद उनकी मॉसी के यहां उदयपुर में उनका पालन-पौषण हुआ। उनकी शिक्षा दिक्षा मुम्बई में हुई। उन्होंने साल 1981 में घोसुण्डा हाल उदयपुर निवासी सत्यनारायण माहेश्वरी से विवाह किया था। उनके एक पुत्र एवं एक पुत्री है।
    2- साल 1992 में किरण माहेश्वरी को राज्य कल्याण बोर्ड का सदस्य नियुक्त किया गया। जिसके साथ ही उनके राजनीतिक करियर की भी शुरुआत हुई।
    3- साल 1994 में उन्हें बीजेपी ने उदयपुर नगर निगम से अपना पार्षद प्रत्याशी बनाया। जिसके बाद चुनाव जीतने पर उन्हें उदयपुर का मेयर नियुक्त किया गया। इस दौरान महेश्वरी ने महिला सशक्तिकरण और महिला उत्थान के लिए उदयपुर में पहले महिला सरकारी बैंक की स्थापना की और वह इसकी संस्थापक अध्यक्ष बनी।
  • साल 2000 तक किरण माहेश्वरी का कद प्रदेश भाजपा में काफी बढ़ गया थाए और माहेश्वरी महिलाओं में काफी लोकप्रिय नेता के तौर पर उभर रही थी। इसके बाद में उन्हें बीजेपी महिला मोर्चा का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया गया था।
  • इसके बाद में साल 2004 में किरण माहेश्वरी को भाजपा ने उदयपुर राजसमंद संसदीय क्षेत्र से अपना प्रत्याशी बनाया। इस चुनाव में किरण माहेश्वरी ने कांग्रेस की नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ गिरिजा व्यास को चुनाव में शिकस्त दी और सांसद चुनी गई। जिसके बाद भाजपा द्वारा भी उन्हें संगठन में राष्ट्रीय सचिव की जिम्मेदारी सौंपी गई।
  • किरण माहेश्वरी की लोकप्रियता दिनोंदिन बढ़ रही थी। जिसके बाद में यह भाजपा ने उन्हें साल 2006 में बीजेपी महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त किया गया।
  • 2008 में किरण माहेश्वरी ने सांसद पद से इस्तीफा दे दिया और उन्होंने राजस्थान विधानसभा में राजसमंद निर्वाचन क्षेत्र से विधायक का चुनाव लड़ा और इसमें जीत दर्ज की।
  • विधायक का चुनाव जीतने के बाद एक बार फिर साल 2009 में भाजपा ने किरण माहेश्वरी को अजमेर लोकसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया। हालांकि इस चुनाव में उन्हें कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी सचिन पायलट से हार का मुंह देखना पड़ा।
  • किरण माहेश्वरी विधायक रहते हुए लगातार संगठन में एक्टिव रही इसका नतीजा रहा कि उन्हें साल 2011 में भाजपा की राष्ट्रीय महासचिव नियुक्त किया गया।
  • महेश्वरी साल 2013 में एक बार फिर राजसमंद विधानसभा सीट से विधायक बनी। इस बार माहेश्वरी ने 30 हजार से अधिक वोटों के अंतर से जीत दर्ज की थी। ऐसे में प्रदेश भाजपा सरकार में उन्हें जलदाय विभाग एवं उच्च शिक्षा जैसा महत्वपूर्ण विभाग देकर कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया।

इन्होंने जताया शोक

  • किरण माहेश्वरी का आकस्मिक निधन सम्पूर्ण भाजपा परिवार के लिए अपूर्णीय क्षति है। वे देश और समाज सेवा के लिए हमेशा समर्पित रहती थी। पार्टी ने जब भी कोई जिम्मेदारी उनके कंधों पर डाली उन्होंने उसका बखूबी निर्वहन किया। वे मिलनसार और अच्छी जननेता के रूप में जानी जाएगी। इस दुख की घड़ी में, में अपनी संवेदनाएं और श्रद्धांजलि अर्पित करती हूं और ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान प्रदान करें एवं कार्यकर्ताओं और परिवारजन को इस असहनीय दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करे।
    (1) दियाकुमारी, सासंद-राजसमंद
  • विधायक किरण माहेश्वरी के असमय ही निधन की सूचना बेहद दु:खद हैं। माहेश्वरी भाजपा की कद्दावर नेता थी। सभी के साथ इनका व्यवहार मृदुल पूर्ण एवं मिलनसार रहा तथा हरेक के दु:ख दर्द में सदैव साथ देने के लिए तत्पर रहती थी। इनके देहान्त से मुझे गहरा सदमा लगा हैं। ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करने के साथ-साथ परिवार को इस असहनीय आघात को सहन करने की शक्ति प्रदान करे।
    (2) सुदर्शन सिंह रावत, भीम विधायक
  • पूर्व मंत्री व पूर्व सांसद माहेश्वरी प्रखर वक्ता थीं। वे सदन में विभिन्न मुद्दों पर प्रभावी तरीके से अपनी बात रखती थीं। दिवंगत आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। माहेश्वरी का निधन बेहद दुखद है। उन्होंने अपना पूरा जीवन समाज की सेवा और हितों को संरक्षित करने के लिए समर्पित किया। मेरे लिए उनका निधन व्यक्तिगत क्षति है। ईश्वर दिवंगत आत्मा को श्रीचरणों में स्थान दें। परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूँ। किरण जी के साथ राजनीतिक, सामाजिक जीवन में लम्बे अरसे तक काम किया। सामाजिक विषयों विशेषत: महिलाओं व वंचित वर्गों के अधिकारों की वे सशक्त आवाज थीं। दीन-दुखियों की सहायता के लिए हमेशा तत्पर रहने वाली किरण जी को उनकी निर्भीकता व स्पष्टवादिता के लिए सदैव याद किया जाएगा।
    (3) डॉ सीपी जोशी, राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष व नाथद्वारा विधायक
  • मेवाड़ में आज एक जन नायिका को तथा भाजपा ने अपना श्रेष्ठ नेता खो दिया है। कोरोना के संक्रमण से संक्रमित पिछले कई दिनों से विधायक किरण अस्वस्थ थी। उनका इस तरह से चले जाना मेरे लिए ही नहीं अपितु सभी कार्यकर्ताओं के लिए एवं भाजपा परिवार के लिए बड़ी जनहानि है। मे सच्चे एवं भीगे मन से सवेंदना वक्त करते हुए ईश्वर से प्रार्थना करता हु कि वे पुण्य आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें और उनके परिजनों को इस घड़ी में धेर्यता प्रदान करे।
    (4) सुरेन्द्रसिंह राठौड़, विधायक-कुंभलगढ़
  • पूर्व कैबिनेट एवं उच्च शिक्षा मंत्री तथा विधायक किरण माहेश्वरी के निधन पर गहरा दु:ख व शोक संवेदना प्रकट की है। उन्होंने जारी संदेश में कहा कि दिवंगत विधायक के निधन से राज्य के लिए बड़ी क्षति है। उन्होंने शोक संतृप्त परिवार को आघात सहन करने की शक्ति प्रदान करें।
    (5) उदयलाल आंजना, जिला प्रभारी व सहकारिता मंत्री