राजसमंद, चेतना भाट। गांव स्तर पर आयोजित मातृ शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस एवं कृमि मुक्ति अभियान का सीएमएचओ डॉ. जेपी बुनकर ने औचक निरीक्षण कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने भावा एवं भाणा ग्राम पंचायतों में आंगनबाड़ी केन्द्र पर आयोजित मातृ शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस एवं कृमि मुक्ति अभियान का अवलोकन किया तथा आवश्यक दवाईंयां एवं अन्य सामग्री की जांच की। उन्होंने वहां कार्यरत एएनएमए आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को कोरोना प्रोटोकॉल का पूर्णत: पालन करने एवं गर्भवती महिलाओं, बच्चों एवं प्रसूताओं की प्रसव पश्चात देखभाल सुनिश्चत करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने 1 से 19 वर्ष के गांव के सभी बच्चों को आंगनबाड़ी केन्द्र एवं उपस्वास्थ्य केन्द्र पर मोबिलाईजकर लाने एवं कृमि नाशक दवाईं आशा एवं एएनएम के द्वारा ही देने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने गांव में कोरोना के तहत होम आईसोलेशन वाले लोगों के घर कम से कम तीन बार जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुरेश मीणा ने आंगनबाड़ी केन्द्र सियाणा, आमेट शहर के आंगनबाड़ी केन्द्र एवं धांयला एवं केलवा का निरीक्षण कर वहां मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य दिवस व कृमि मुक्ति दिवस की पर दी जाने वाली सेवाओं का अवलोकन किया तथा समय पर गर्भवती महिलाओं को चिन्हित कर रजिस्ट्रेशन करवाने तथा शत प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण करने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उनके साथ डीएनओ विनित दवे थे।