राजसमंद/ नाथद्वारा। उपनी ओडन स्थित श्रीनाथजी इंस्टिट्यूट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी मैनेजमेंट महाविद्यालय में आनंदम दिवस के उपलक्ष्य में एमएलएसयू, गोविन्द गुरु जान जातीय विश्वविद्यालय बांसवाड़ा और प्रजापति ब्रह्मकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय माउंट आबू के संयुक्त तत्वाधान में सामुदायिक स्वयं सेवक विषयक वेबिनार आयोजित की गई। प्रारम्भ में वेबिनार सचिव व प्राचार्या डॉ. दीप्ति भार्गव ने वेबिनार के उद्देश्यों एवं आनंदम पाठ्यक्रम के बारे में बताते हुए विद्यार्थियों को सामाजिक मुद्दों, असामनाओ से अवगत होने, सामजिक कुरूपता को समझने की अकादमिक शिक्षा के साथ जरुरत बताई। विद्यार्थियों से आह्वान किया कि समाज सेवा के छोटे प्रभावी प्रयासों से सकारात्मक बदलाव लाएं, ख़ुशी का माहौल बनाएं जिससे राष्ट्र का विकास संभव हो सके। मुख्य वक्ता विद्यासिंह (ट्रेनर एवं लाइफ कोच आर्ट ऑफ लिविंग) ने उद्बोधन में विद्यार्थियों से आवाहन किया की सामुदायिक पहलुओं को समझे, जीवन में मुस्कराहट रखेंए विकास हेतु प्रतिबद्ध रहेए तनाव से दूर रहेए सोच का दायरा बढ़ाएं और समाज विकास की पहल करते हुवे बदलाव की नीव रखें। अंत में प्राचार्या डॉ. भार्गव ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया। वेबिनार में सौरभ कपूर ने सहयोग दिया।

स्नातकोत्तर पूर्वाद्र्ध एलएलबी में प्रवेश के लिए आवेदन शुरू

उपली ओडन स्थित नाथद्वारा गु्रप ऑफ इंस्टीट्यूशंस में संचालित नाथद्वारा इंस्टिट्यूट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट ओर नाथद्वारा लॉ कॉलेज में प्रवेश प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी गई है। पीआरओ धर्मेश पालीवाल ने बताया कि आयुक्तालय राज्य सरकार के आदेशानुसार स्नातकोत्तर पूर्वाद्र्ध एमएससी फिजिक्स, एमएससी केमिस्ट्री एवं एमएससी मेथ्स में ओर एलएलबी में प्रवेश प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी गई है। साथ ही उन्होंने बताया कि इन कक्षाओं में सीट कम होने के कारण पहले आओ, पहले पाओ का प्रावधान रखा है। कोविड काल में ऑनलाईन प्रवेश के लिए महाविद्यालय की वेबसाइट के माध्यम से प्रवेश ले सकते है। निदेशक दीपेश पारिख ने बताया कि क्षेत्र का एकमात्र निजी संस्थान जो अपनी प्राकृतिक एवं भौतिक सम्पदा के लिए समृद्ध होते हुए अपने शैक्षिक उन्नयन में भी अग्रणी है। संस्थान में अनुभवी व्याख्याताओं के मार्गदर्शन में विद्यार्थी अपना अध्यापन का कार्य कर रहे है।