राजसमंद, चेतना भाट। उत्तर भारत में सर्दी बढऩे एवं कुछ दिनों पूर्व प्रदेश के कई स्थानों में हुई ओलावृष्टि के बाद से ही ठंड ने अपना असर दिखाना प्रारंभ कर दिया है। दिन में भी सर्द हवाएं बदन को चुभने लगी है। वहीं अल सुबह एवं रात के समय ठिठुरन बढ़ गई है। मंगलवार तक रात का तापमान बढ़ा लेकिन दो दिनों में ही रात का तापमान में भी हल्की गिरावट आई है। शनिवार को तापमान अधिकत 30.1 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 7.6 डिग्री दर्ज किया गया है। वहीं पिछले दो दिनों का तापतान के मुकाबले न्यूनतम तापमान में करीब 2 डिग्री की बढ़ोत्तरी रही। शनिवार को दिन भर हल्की सर्द हवाएं चली जिससे यकायक ठंड में बढ़ोत्तरी होने के साथ ही ठिठुरन का एहसास रहा। दिन में धुप भी हवाओं के कारण बेअसर लगने लगी है और शाम होते होते सर्दी के चलते लोग शाम को जल्द ही अपने घरों की और प्रस्थान करते दिखाई दिए।
बदल रहा खानपान
सर्दी की शुरुआत होते ही लोगों की दिनचर्या में भी परिवर्तन होने लगा है। वहीं सर्द ऋतु में लोगों खान-पान में विशेष ध्यान देते है। गर्म तासिर वाली वस्तुओं के साथ ही तिल्ल और गुड़ से बनी गजक आदि का सेवन भी बढ़ जाता है। वहीं शाम को गर्म दूध, जलेबी की दूकानों पर भी लोगों की भीड़ बढ़ती दिख रही है।
गर्म कपड़ों की खरीदारी बढ़ी
ठंड का असर बढऩे के साथ ही लोग गर्म एवं ऊनी वस्त्रों का उपयोग करने लगे है। शहर में स्थित कपड़ों की दूकानों दूकानों के आलावा शहर के 100 फीट रोड़, विट्टल विलास बाग के पास स्थित बाजार में भी बिक्री के लिए गर्म कपड़ों, स्वेटर आदि की स्टॉलों पर भी खरीदारों की भीड़ लगने लगी है। शनिवार को सर्द हवाओं के चलने के साथ ही लोग गर्म कपड़ों में दिखाई दिए।
मावठ होने की आशंका, बढ़ सकती है सर्दी
उत्तरी भारत में बढ़ती ठंड एवं सर्द हवाओं तथा प्रदेश के हो रही ओलावृष्टि के साथ ही ठंड के और बढऩे के आसार नजर आ रहे है। शनिवार को दिन भर चली हल्की सर्द हवाओं के कारण ठंड बढऩे लगी है। इस स्थिति को देखते हुए आगे कुछ दिनों में ही ठंड का असर तेज हो सकता है।