पीडी खाते के आदेशों की जलाई होली, सौंपा ज्ञापन
राजसमंद, चेतना भाट। राजसमंद राजस्थान सरपंच संघ अध्यक्ष बंशीधर गढ़वाल के नेतृत्व में सोमवार को सम्पूर्ण राज्य में वित्त विभाग एवं पंचायत राज विभाग द्वारा ग्राम पंचायतों के ब्याज रहित पीडी खाता खुलवाने के आदेशों की होली जलाई गई। जिला महामंत्री योगेंद्रसिंह चौहान बनेडिया ने बताया कि वित्त विभाग एवं पंचायत राज विभाग ने ग्राम पंचायतों के ब्याज रहित पीडी खाता खोलने के आदेश जारी कर पंचायत के वित्तीय अधिकारों का हनन किया है। इस आदेश को लेकर जिले के सभी सरपंचों में भारी आक्रोश है। सरपंच संघ जिलाध्यक्ष संदीप श्रीमाली सेमा ने बताया कि विगत 2 वर्षों से वित्त विभाग द्वारा 5वें वित्त आयोग की राशि 65 सौ करोड़ रुपए जारी नहीं किए गए है और पंचायत के कामकाज ठप्प करने का प्रयास किया है। प्रदेश सरपंच संघ के आह्वान पर जिला उपाध्यक्ष रामलाल गुर्जर ने कहा कि ग्राम पंचायतों में नहीं खुलने देंगे ब्याज रहित पीडी खाते ओर सरकार द्वारा ध्यान नही देने पर 13 जनवरी को जिला मुख्यालय पर जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा जाएगा। फिर भी सरकार ने आदेश वापस नहीं लिए तो 21 जनवरी को प्रदेश की सभी 11 हजार 3 सौ 44 पंचायतों पर ताला बंदी की जाएगी। सरपंच संघ जिलाध्यक्ष श्रीमाली ने बताया कि सोमवार जिले की सभी 8 पंचायत समिति में सरपंच संघ ने ज्ञापन दिया एवं प्रदेश के दिशानिर्देश अनुसार संघ लगातार विरोध करेगा। राजसमंद में ब्लॉक पदाधिकारियों ने विकास अधिकारी भुवनेश्वरसिंह चौहान को मांग पत्र सौंपा।

राजसमंद। ब्याज रहित पीडी खाता खुलवाने के आदेश विरोध में राजसमंद व खमनोर में बिडिओ को ज्ञापन सौंपते सरपंच संघ के प्रतिनिधि।

पीडी खाते खुलवाने को लेकर सरपंच संघ ने ज्ञापन सौंपा

ग्राम पंचायतो के ब्याज रहित पीडी खाते खोले जा कर सवैधानिक वितीय अधिकारो में की जा रही कटौती को रोकने को लेकर सोमवार को खमनोर ब्लॉक सरपंच संघ ने मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव राजस्थान सरकार व अतिरिक्त मुख्य सचिव के नाम खमनोर विकास अधिकारी नीता पारीक को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि वित्त विभाग एवं पंचायत राज विभाग ने ग्राम पंचायतों के ब्याज रहित पीडी खाता खोलने के आदेश जारी कर पंचायत के वित्तीय अधिकारो का हनन किया है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने ग्राम स्वराज की जो परिकल्पना की थी सरकार का यह कदम ठीक इसके विपरीत है और जिले के सभी सरपंचों में भारी आक्रोश है। विगत 2 वर्षों से वित्त विभाग द्वारा पांचवें वित्त आयोग की राशि 6500 करोड़ रुपए जारी नहीं किये गए है और पंचायत के कामकाज ठप्प करने का प्रयास किया है विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सोपा गया। इस दौरान सरपंच संघ खमंनोर ब्लॉक अध्यक्ष किशन गायरी, उप प्रधान वेभव राज सिंह चौहान, सेमा सरपंच संदीप श्रीमाली, कुठवा सरपंच शम्भूसिंह कडेचा सहित सरपंचगण मौजूद थे।