कोरोना महामारी जागरूकता अभियान
राजसमंद, चेतना भाट। कोरोना महामारी से बचाव के लिए सजगता, सावधानी बरतेंं। इसके साथ ही सर्वप्रथम मास्क आवश्यक रूप से पहने, दो गज की दूरी, बार-बार थूकने की आदत को बंद करना होगा। साथ ही हाथ मिलाने की बजाय नमस्कार को अपनाए व बार-बार हाथ धोए। जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल ने कहां कि इसके साथ ही सरकार द्वारा जारी कोरोना गाईडलाईन की पालना करें। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व जिला प्रशासन कोरोना महामारी से आमजन को बचाने के लिए भरसक प्रयास कर रहे है जिसमें सभी विभाग प्रयासरत है। कोरोना महामारी से जीवन रक्षा के लिए जिम्मेदारी निभाएं हम सबकी सावधानी कोरोना से स्वयं तथा दूसरों के जीवन रक्षा के लिए जरूरी है की अपने स्वास्थ्य का खयाल रखा जाए, जिससे कोरोना से बचा जा सके। पोसवाल ने कहां कि कोरोना महामारी से बचने के लिए सभी सुरक्षात्मक उपाय अपनाए। जिससे इसके फैलाव व संक्रमण को रोका जा सके। अभी तक कोरोना महामारी की कोई वैक्सीन नही बनी है, इसलिये सभी मास्क आवश्यक रूप से पहने। इसके लिये आवश्यक है कि आमजन जागरूक रहे और सुरक्षित रहे व स्वास्थ्य का ख्याल रखें। सरकार व प्रशासन सदैव इसके लिये सकारात्मक रूप से सहयोग करेगा।
सभी को जागरूक रहना आवश्यक है
जिला पुलिस अधीक्षक भुवन भुषण यादव ने कहां कि कोरोना महामारी अभी खत्म नहीं हुई है। इसलिए सावधानी रखना आवश्यक है। जिसमे मास्क पहनना, दो गज की शारीरिक दूरी, हाथ धोना, सार्वजनिक स्थानों पर थूकनें की प्रवृत्ति का त्याग करना आदि महत्वपूर्ण है। इसके साथ ही सभी को जागरूक रहना आवश्यक है। राज्य सरकार व गृह विभाग जिसमें पुलिस ने पूरे जिले में आमजन को जागरूक करने के लिए जिलेभर में जागरूकता अभियान के तहत रैलियां आयोजित की है। जिससे आमजन के जीवन को बचाया जा सके। उनकी सुरक्षा के साथ-साथ उनको स्वास्थ्य के प्रति भी जागरूक रखने का प्रयास किया जा रहा है। राज्य, समाज के सजग प्रहरी होने के नाते इसके संक्रमण को रोकने के लिये पूर्ण प्रयास किये जा रहे है।


कोरोना से लडऩे के लिए आमजन का सहयोग भी महत्वपूर्ण है

मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद निमिषा गुप्ता ने कहां कि जिले में लाकडाउन लागू होने के बाद सरकार व जिला प्रशासन ने इसके संक्रमण से आमजन को बचाने के लिए सभी तरह के उपाय किए है। जिसमें सभी एहतियाती उपाय भी प्रयोग में लाए गए हैं। वर्तमान में महामारी से बचने के लिए सभी मास्क का उपयोग करें, सोशल डिस्टेसिंग की पालना, बारबार हाथ धोएं व सार्वजनिक स्थानों पर थूकें नहीं। इन बातों को ध्यान में रखते हुये सरकार द्वारा जारी सभी निर्देशों की पालना करें। जिले में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिये व आमजन को जागरूक करने के लिए अनेक कार्यक्रम, प्रचार-प्रसार, प्रर्दशनी व कई नवाचार भी किए गए है, जिनका लक्ष्य आमजन को जागरूक कर बीमारी से बचाने का है। इसके लिए पंचायतराज विभाग ने भी प्रयास किए है। महामारी से बचाव व जागरूकता के लिए मातृ-शक्ति का भी महत्वपूर्ण योगदान रहा है, क्योंकि परिवार में इनकी भूमिका प्रभावी रहती है। कोरोना से लडऩे के लिये आमजन का सहयोग भी महत्वपूर्ण है।

कोरोना महामारी को रोकने के लिए सरकार एवं चिकित्सा विभाग ने कदम शुरू किए

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ जेपी बुनकर ने बताया कि कोरोना महामारी प्रारंभ होने के बाद से ही इसके फैलाव को रोकने के लिए सरकार एवं चिकित्सा विभाग ने सभी कदम उठाने शुरू कर दिए थे। सरकार व चिकित्सा विभाग ने इसके लिये सभी भरसक प्रयत्न किये है। कोरोना महामारी से बचाव के लिये आमजन को वैक्सीन बनने तक मास्क लगाना अनिवार्य है। रोगी-जरूरतमंदो की सहायता, कोरोना लक्षण आने पर चिकित्सक को दिखाने आदि बातों का ध्यान रखा जाए। इसके साथ ही चिकित्सा विभाग ने विभिन्न प्रकार से प्रचार-प्रसार संदेश आमजन को जागरूक करने के लिए कार्य किए है। इसके साथ ही चिकित्सा विभाग पूरे जिले में सक्रमण और फैलाव रोकने के लिए प्रयासरत है। वर्तमान में वैक्सीन के नहीं बनने तक बचाव के लिए सर्वप्रथम मास्क पहनना ही जरूरी है। सरकार, प्रशासन, विभागों के साथ-साथ आमजन का सहयोग व जनजागरूकता भी कोरोना महामारी को रोकने में महत्वपूर्ण साबित होगी।