नवज्योति, खमनोर। राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परियोजना के अन्तर्गत खमनोर ब्लॉक के बागोल क्लस्टर के तलाया नीचली ओडन में गुरुवार को परियोजना के माध्यम से समूह की महिला गमेरी बाई की आर्थिक मदद कर गांव में ही शिवशक्ति डेयरी खुलवाई गई। जिससे गमेरी बाई अपनी आजीविका में वृद्धि करें और तलाया गांव में ही दुर्गा मेघवाल को परियोजना माध्यम से आर्थिक मदद कर मुर्गी पालन के लिए किस्म कडकनाथ के 50 चूजे दिलवाये गए। इस दौरान ब्लॉक परियोजना प्रबंधक अमित जोशी उपस्थित थे। आरएसईटीआई संस्था के माध्यम से 20 महिलाओं को ट्रेनिंग सेन्टर पर सिलाई प्रशिक्षण प्रारम्भ किया गया जिसमे महिलाएं सिलाई का एक माह का प्रशिक्षण लेकर अपनी आजीविका को बढ़ाए। ब्लॉक परियोजना प्रबंधक अमित जोशी ने राजीविका से मिलने वाले फायदे और उद्देश्यों के बारे में जानकारी दी। इस दौरान आरएसईटीआई निदेशक राजेन्द्र कुमार, शंकरलाल, सीएलई अब्बास मौजूद थे।

प्राधिकरण सचिव ने ऑनलाईन किया शिशु गृह का निरीक्षण

राजसमंद, चेतना भाट। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष गिरीश कुमार शर्मा के निर्देशानुसार प्राधिकरण सचिव नरेन्द्र कुमार ने गुरूवार को राजकीय विशेषज्ञ दत्तक गृहण एजेन्सी (शिशु गृह) राजसमन्द का वीडियों कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से आकस्मिक निरीक्षण किया गया। गृह में कुल 7 कार्मिकगण कार्यरत है। वक्त निरीक्षण के समय गृह प्रभारी प्रकाशचंद सालवी तथा कार्मिक आया रोशनी देवी मौजूद रहे व सहयोग किया। निरीक्षण गृह में कोई भी शिशु निवासरत नहीं पाया गया। अब तक उक्त गृह में कुल 8 शिशु को आश्रय दिया गया है। सभी बालकों का दतक गृहण हो चुका है। कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर नगरपरिषद् की ओर से गृह में हाइपोक्लोराइड का नियमित समयातंराल पर छिड़क़ाव किया जा रहा है।