सांसद ने केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से की मुलाकात

ब्यावर- गोमती फोरलेन, इको सेंसेटिव जॉन, मार्बल व्यवसाय और बाघों की दयनीय स्थिति पर की चर्चा

राजसमन्द में एफएम रेड़ियो स्टेशन खोलने की मांग

राजसमंद/चेतना भाट। साांसद दीयाकुमारी ने वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मिलकर नेशनल हाईवे 458 और नेशनल हाईवे. 8 गोमती- ब्यावर फोरलेन के वन विभाग के कारण रुके हुए कार्य के लिए राष्ट्रीय वन्य जीव बोर्ड से शीघ्र स्वीकृति दिलाए जाने के संबंध में चर्चा करते हुए कहा कि क्षेत्र की जनता के लिए यह कार्य प्राथमिकता से किया जाना अनिवार्य है।

मार्बल व्यवसायियों की मांगों पर की चर्चा-

मार्बल व्यवसायियों की विभिन्न मांगों और समस्याओं के समाधान बारे में भी सांसद ने केंद्रीय मंत्री से विस्तार से चर्चा करते हुए कहा कि मार्बल व्यापार करना दिनों दिन मुश्किल होता जा रहा है। पर्यावरण स्वीकृति में अप्रधान खनिज मार्बल को केटेगिरी बी-2 में शामिल करते हुए बी-2 केटेगरी के खनन पट्टों को जिला स्तरीय पर्यावरण समाधात निर्धारण प्राधिकरण द्वारा जारी कराए जाने के अलावा भी अनेक मांगों को दस्तावेज सहित प्रस्तुत कर समाधान की बात कहीं।
सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि राजस्थान के अभयारण्यों में बाघों की हो रही असामयिक मौतों की जांच व जांच अधिकारियों की लापरवाही घोर निराशाजनक है जिस पर कार्रवाई आवश्यक है।

ईको सेंसिटिव जाॅन में राहत दी जाएं

सांसद ने कुंभलगढ़ वन अभ्यारण्य के ईको सेंसिटिव जाॅन के सीमा निर्धारण में होटल व्यवसाइयों की मांगों पर भी त्वरित समाधान की बात करते हुए कहा कि राहत देने से वन्य जीवों पर कोई प्रतिकूल प्रभाव नहीं होगा। सांसद ने सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से राजसमंद की ऐतिहासिक, धार्मिक और भौगोलिक स्थिति को देखते हुए एफएम रेडियो स्टेशन शुरू किए जाने की मांग भी रखी। मीडिया संयोजक मधुप्रकाश लड्ढा ने बताया कि विस्तृत वार्ता के बाद केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने सांसद को आश्वस्त करते हुए कहा कि सभी मांगों का प्राथमिकता से शीघ्र समाधान किया जाएगा।