राजसमंद, चेतना भाट। आगामी नगर परिषद चुनावों को लेकर राजसमंद विकास क्रांति की बैठक सोमवार को निजी होटल में आयोजित की गई। बैठक में राजसमंद नगर के विकास को लेकर चर्चा की गई। राजसमंद को जिला बने लगभग 30 वर्ष हो चुके हैं फिर भी राजसमंद नगर का विकास अपेक्षाओं के अनुरूप नहीं हो सका। प्रत्येक वार्ड कई जरूरी समस्याओं से आज भी जूझ रहे हैं और अब तक उनके द्वारा चुने गए उम्मीदवार जिन्होंने उन्हें आश्वासन दिया और वोट प्राप्त किया वो जीतने के बाद वार्ड को भूल गए। इसी बात से खफा होकर राजसमंद विकास क्रांति एक सार्वजनिक मंच का निर्माण किया गया है जो आगामी नगर परिषद चुनाव में स्वच्छ इमानदार निर्भीक और अपने वादों के साथ नगर के विकास में कार्य करने के लिए कटिबद्ध है।


पहली नगर परिषद चुनावी बैठक में उम्मीदवारों की प्रथम सूची तैयार कर ली गई है। सम्पूर्ण उम्मीदवारों की सूची आचार संहिता लागू होने के पश्चात् सार्वजनिक की जाएगी। बैठक में हर्षवर्धन सिंह (हरीश ठाकुर) ने बताया कि राजसमंद नगर के विकास के लिए रूढि़वादी राजनीति से हटकर युवाओं को एक नई सोच के साथ नगर के विकास को ध्यान में रखकर निष्पक्षता व ईमानदार उम्मीदवार का चयन करें और दलगत राजनीति में अब ना फंसे और एक सही ईमानदार को ही अपने वालों से चुने। भगवत शर्मा ने कहा कि पिछले 5 वर्षों में नगर परिषद की बोर्ड की कमेटियां तक नहीं बनी जिसका हरजाना आज भी नगरवासी भुगत रहे है, जनता की गाढ़ी कमाई फिजूल खर्च की जा रही है। अमित वर्मा ने हर वार्ड में मोहल्ला कमेटी के निर्माण की बात कहीं। मनीष छापरवाल ने कहां कि राजनीति स्वच्छ हो पर्यटन क्षेत्र में बढ़ावा मिले तथा राजसमंद हेरिटेज सिटी के रूप में विकसित हो। बैठक में मनीष छापरवाल, अमित वर्मा, ऑटो यूनियन अध्यक्ष मेवालाल खटीक, मोनिका सेन, कैलाश रेगर, भील समाज अध्यक्ष भेरूलाल भील, पप्पूलाल कीर, रणवीरसिंह भाटी उपस्थित थे।