राजसमंद, चेतना भाट। राजस्थान भील समाज विकास समिति की प्रदेश स्तरीय बैठक भीलवाड़ा जिले के गुलाबपुरा स्थित समाज के छात्रावास में समिति संस्थापक छीतरलाल झालावाड़ के मुख्य आतिथ्य में हुई। जिला महासचिव गुलाब चन्द भील ने बताया कि बैठक में राजसमंद सहित झालवाड़, कोटा, बूंदी, बारां, चितौडग़ढ़ आदि जिलों के जिलाध्यक्ष, महासचिव एवं प्रतिनिधियों ने भाग लिया। बैठक में राजस्थान प्रदेश कि नवीन कार्यकारिणी का पुनर्गठन किया गया। जिसमें सर्वसहमति से मोहनलाल भील को प्रदेशाध्यक्ष व गंगाराम भील को प्रदेश सचिव, खेमराज को प्रदेश संरक्षण मनोनित किया। इस अवसर पर छीतरलाल, गोपाललाल, बालूराम, खेमराज, मोहनलाल, रामलाल, गोविंद, रामनाथ, शिवचरण, गिरीराज, हिरालाल सहित कई समाजजन व पदाधिकारी उपस्थित थे।

बाल कल्याण समिति ने किया शिशु का निरीक्षण

राजसमंद। बाल कल्याण समिति अध्यक्षा भावना पालीवाल व सदस्य परसराम,चन्दा सोनी ने राजकीय विषेषज्ञ दत्तक ग्रहण एजेंसी (शिशु गृह) का आकस्मिक निरीक्षण किया। इस अवसर में जूणदा होटल के पास मिला दिव्यांग बालक गृह में आश्रयरत मिला। बालक का नाम पता नहीं होने पर गृह की और से गोपाल नाम रखा गया। बालक सुनने, बोलने एवं चलने मे सक्षम नहीं है। बालक के गृह में अच्छी तरह से देखरेख की जा रही है। निरीक्षण के दौरान समंवयक प्रकाशचन्द्र सालवी ने सहयोग दिया। गृह में कोविड-19 को देखते हुए समुचित साफ-सफाई व सेनेटाईजर उपलब्ध है। अधीक्षक कृष्णकान्त सांखला ने बताया कि बालक को गरिमा संस्थान जयपुर को भेजा जाएगा। क्योंकि संभाग स्तर पर स्थित एमआर संस्थान में क्षमता से ज्यादा शिशु आवासित है।