खाचरियावास ने चेतक स्मारक पर की पुष्पांजलि
खमनोर।
परिवहन एवं सैनिक कल्याण मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास शनिवार को हल्दीघाटी पहुंचे। जहां उन्होंने चेतक स्मारक पर पुष्पांजलि करने के बाद महाराणा प्रताप संग्रालय का अवलोकन किया। खाचरियावास ने कहा कि महाराणा प्रताप जैसी सख्सियत को राजनेतिक हथियार के रूप में इस्तेमाल करना गलत है। प्रताप जैसी महान विभूति इस भारत की पहचान है, जिन्होंने भारत की गाथाओ को पूरी दुनिया ने एक मिसाल के रुप में कायम किया है। मेवाड़ की धरती का जितना सम्मान किया जाये उतना कम है। खाचरियावास शाम 6 बजे कार से हल्दीघाटी स्थित चेतक समाधि पहुँचे जहाँ चेतक घोड़े की समाधि पर पुष्पांजलि अर्पित की। उसके बाद खाचरियावास महाराणा प्रताप संग्रालय का अवलोकन किया। जहां पर संग्रालय के सस्थापक डॉ मोहनलाल श्रीमाली, प्रबंधक डॉ भूपेंद्र श्रीमाली ने खाचरियावास का उपरना ओढाकर स्वागत किया। खाचरियावास ने संग्रालय का अवलोकन कर डॉ मोहन श्रीमाली द्वारा किये गए कार्य की प्रशन्सा की। खाचरियावास ने कहा कि उदयपुर जिला प्रभारी मंत्री बनने के बाद पहले श्रीनाथजी के दर्शन करुंगा फिर हल्दीघाटी जाऊँगा। हल्दीघाटी देखकर मन गदगद हो गया।

प्रताप की पूरे विश्व मे एक अलग पहचान है। खाचरियावास ने केंद्र सरकार पर वार करते हुए कहा कि इस वक्त केंद्र सरकार ने किसानों पर जो पाप किया है वह गलत है किसानों के विरुद्ध तीन बिल लेकर आये जिससे किसान वर्ग बहुत परेशान है। हल्दीघाटी में रोडवेज बसों का संचालन शुरू करवाने को लेकर जय मेवाड़ नवयुवक मंडल खमनोर के अध्यक्ष हेमन्तसिंह मोजावत ने खाचरियावास को ज्ञापन देकर रोडवेज बसों को नियमित संचालन करने की मांग की। उसके बाद खाचरियावास उदयपुर के लिए रवाना हो गए। इस दौरान डीटीओ अनिल पण्डिया, इंस्पेक्टर रोहितसिंह, तहसीलदार सोहन शर्मा, एएसआई रामसिंह यादव, पूर्व प्रधान पुरुषोत्तम माली, पीपीसी सदस्य सुरेश श्रीमाली, उदयपुर शहर कांग्रेस महासचिव केजी मुंदडा, डॉ दीपेंद्रसिंह, पृथ्वीराज सिंह चौहान, भरत आमेटा, सत्यनारायण मगरोरा मौजूद थे।