राजसमंद, चेतना भाट। राष्ट्रीय कवि माधव दरक को मरणोपरांत राजस्थान गौरव उपाधि देने की मांग जोर पकडऩे लगी है। मेवाड़ ब्राहमण एकता मंच के संयोजक नर्बदा शंकर पालीवाल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को एक पत्र लिखकर मांग की है कि राष्ट्रीय स्तर पर अपनी कविताओं के माध्यम से राजस्थान की महिमा का गुणगान करने वाले कवि माधव दरक को मरणोपरांत राजस्थान गौरव की उपाधि से सम्मानित करना चाहिए। मंच के हितेश दवे, तरुण जोशी, मुकेश शर्मा, प्रवीण श्रीमाली, भेरू नन्दवाना, धीरज पुरोहित, आशीष पालीवाल, मनीष पालीवाल, मनीष दवे, नीरज शर्मा सहित सदस्यों ने मेवाड़ की सामाजिक एवं साहित्यिक संस्थाओ से अपील की है कि राष्ट्रीय कवि माधव दरक को यह गौरव दिलाने के लिए मुख्यमंत्री के नाम पोस्टकार्ड अभियान चलाकर इसका समर्थन करें।

राष्ट्रीय कवि माधव दरक को मरणोपरांत राजस्थान रत्न देने की मांग

कवि माधव दरक को साकेत साहित्य संस्थान ने राजस्थान रत्न सम्मान देने की मांग की। संस्थान जिला सचिव नारायणसिंह राव ने बताया कि जिलाध्यक्ष परितोष पालीवाल के नेतृत्व में सोमवार को सहकारिता मंत्री एवं जिला प्रभारी उदयलाल आंजना को ज्ञापन देकर महाराणा प्रताप कठे… नामक गीत जन जन की जुबान पर लाने एवं एड़ो म्हारो राजस्थान… गीत से राजस्थान की लोक संस्कृति को स्थापित करने वाले माधव दरक को सरकार की तरफ से साहित्य का उचित सम्मान दिए जाने की मांग की। इस मांग पर पुरण शर्मा, कमलेश जोशी, राधेश्याम राणा, वीणा वैष्णव, बख्तावरसिंह चुण्डावत, छगनलाल प्रजापत, राजेन्द्र राजन, धनपालसिंह सोलंकी, कुबेरसिंह सोलंकी, मुकेश वैष्णव, रामगोपाल आचार्य आदि ने सहमति व्यक्त की।