दो दिवसीय गैर आवासीय बैठकें आयोजित
खमनोर। आस्था संस्थान एवं द हंगर प्रोजेक्ट के तत्वाधान में दो दिवसीय गैर आवासीय बैठक का सायो का खेड़ा ग्राम पंचायत भवन सम्पन्न हुआ। जिसमें 7 पंचायतों से 20 महिला जनप्रतिनिधियों ने भाग लिया। संस्थान के भवानीशंकर पालीवाल ने महिला जनप्रतिनिधियों को सबकी योजना सबका विकास के अंतर्गत भौतिक एवं मानव विकास से जुड़े मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की। साथ ही महिला जनप्रतिनिधियों को बताया गया कि ग्राम पंचायत की पाक्षिक बैठक में आप सभी को महिला हिंसा से जुड़े मुद्दों को लेना चाहिए। संस्थान कार्यकर्ता वीणा माली एवं प्रीति श्रीमाली ने जनप्रतिनिधियों के साथ कोविड-19 से बचाव व सुरक्षा को लेकर चर्चा की गई। मुख्य रूप से हस्तांतरित पांच विभागों के बारे में विस्तार से चर्चा करते हुए ग्राम पंचायत के वार्षिक बजट की प्रक्रिया के बारे में महिला जनप्रतिनिधियों की समझ विकसित की गई कार्यशाला में सभी महिला जनपतिनिधियों को रा’य एवं केंद्र वित्त आयोग से ग्राम पंचायतों को हस्तांतरित राशि के बारे में अवगत कराया एवं निजी आय को बढ़ाने की जानकारी दी। कार्यशाला में फिल्म हीवड़े बाजार देखकर एक आदर्श गांव के बारे में सभी ने एक समझ बनाई ।

नव विवाहित दम्पत्तियों को मिलेगा पहल किट


राजसमंद। नवविवाहित जोड़ो को जनसंख्सा स्थरीकरण तथा 2 ब‘चों तक परिवार सीमित रखने एवं प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से आशा के माध्यम से नई पहल किट का उपहार दिया जाएगा। किट को सभी ब्लॉक तक पहुंचाया जा रहा है जिसे आशा सहयोगिनी अपने गांव के नव विवाहित जोड़ो को वितरित करेगी। यह जानकारी एसीएमएचओ डॉ. पंकज गौड़ ने वीसी के माध्यम से सभी खण्ड मुख्य चिकित्साधिकारियों को दी। उन्होंने बताया कि किट में जुट बैग में विवाह पंजीकरण फार्म, तौलियां, कंघी, बिंदी, नेलकटर, दो सेट रूमाल व एक छोटा शीशा, गर्भ निरोधक साधन व प्रेग्नेंसी जांच किट व परिवार कल्याण कार्यक्रम पर आधारित पम्पलेट शामिल है। वितरण से पहले आशाओं को सैक्टर बैठक में नवविवाहित दम्पत्तियों को परिवार नियोजन साधनों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए आमुखीकरण किया जाएगा। वीसी में डीएनओ विनित दवे ने एफपीएमआईएलएस पोर्टल के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि सभी स्वास्थ्य कार्यकर्ता अपने मोबाईल के माध्यम से गर्भ निरोधक साधनो की मांग एवं वितरण का इन्द्राज कर सकते है। उन्होंने कहा कि बिना पोर्टल पर इन्द्राज के गर्भ निरोधक साधनों की आपूर्ति नहीं की जाएगी। इस अवसर पर आईपीई ग्लोबल से डॉ. क्विना मेहता, जिला आशा समंवयक हरिशंकर शर्मा आदि उपस्थित थे।