किरण की याद में फफक पड़ी महिलाएं, छलक उठे नेत्र
-आज 10 पंचायतों में होते हुए राजसमन्द शहर में करेगी प्रवेश
राजसमंद, चेतना भाट। पूर्व मंत्री एवं विधायक किरण माहेश्वरी की स्मृति में आयोजित चार दिवसीय अस्थि कलश यात्रा शुक्रवार को पड़ासली गांव से शुरू हुई जो दिनभर में दर्जनों गांवों में पहुंची। स्व किरण के गुणगान में बजते गीत-संगीत एवं गगनभेदी नारों के बीच भावपूर्ण माहौल में गांव-ढाणी में कार्यकर्ताओं सहित आमजन ने अस्थि कलश के दर्शन किए एवं पुष्पांजलि अर्पित कर नमन किया। इस दौरान कई जगह महिलाएं दिवंगत किरण को याद करते हुए भावुक होकर फफक पड़ी तो अनेक कार्यकर्ताओं के नेत्र छलक उठे। प्रदेश स्तरीय कई भाजपा नेता एवं क्षेत्रभर से पदाधिकारी भी यात्रा में शिरकत करने पहुंचे। तय कार्यक्रम अनुसार स्व किरण की पुत्री दीप्ति माहेश्वरी, पुत्र प्रशांत, पति सत्यनारायण माहेश्वरी आदि परिजन गढ़बोर में चारभुजानाथ के दर्शन कर पड़ासली पहुंचे जहां यात्रा को लेकर क्षेत्रभर से बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारी, कार्यकर्ता व आमजन एकत्र थे। पड़ासली चौक में पुष्पांजलि अर्पण कार्यक्रम हुआ जहां किरण के छविचित्र युक्त कट आउट, पोस्टर से सुसज्जित रथ मौजूद था। यहां सभी ने रथ में स्थापित अस्थि कलश के दर्शन किए एवं पुष्पांजलि देकर नमन किया। यहां राजसमन्द नगर परिषद सभापति सुरेश पालीवाल, उप जिला प्रमुख सोहनीदेवी गुर्जर, यात्रा प्रभारी बहादुरसिंह राठौड़, भाजपा जिला उपाध्यक्ष महेश आचार्य, राजसमन्द प्रधान अरविन्दसिंह राठौड़, पूर्व उप प्रधान दिनेश बड़ाला व भरत पालीवाल, कार्यक्रम संयोजक सत्यनारायण पूर्बिया, पूर्व मण्डल अध्यक्ष पर्वतसिंह आशिया, हितेश जोशी, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष जगदीश पालीवाल, कटर एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष नानालाल सिंधल, पंस सदस्य कृष्णा कुंवर, मण्डल अध्यक्ष मुकेश जोशी, पार्षद विजय बहादुर जैन, श्यामलाल सांवरिया, उप सभापति अर्जुन मेवाड़ा सहित कार्यकर्ताओं ने दिवंगत किरण को पुष्पांजलि दी। इसके बाद यहां से यात्रा रवाना हुई। इसमें सबसे आगे डीजे पर संगीत के स्वर बिखर रहे थे जिसमें क्षेत्र के प्रति किरण के लगाव, अपनत्व, विकास के प्रति दृढ़ संकल्प आदि को समाहित कर किरण का गुणगान हो रहा था। वाहनों के काफिले के साथ यात्रा माण्डावाड़ा, दुर्गाकुण्ड व मियारी होते हुए बामनटुकड़ा पहुंची। सभी जगह लोग यात्रा का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। वहां सभी ने अस्थि कलश पर पुष्प अर्पित कर किरण को श्रद्धांजलि दी।

छलछला उठी कार्यकर्ताओं की आंखें

पूरी यात्रा में पुष्पांजलि अर्पण का क्रम जारी रहा। इस दौरान जहां लोगों ने किरण को भावांजलि दी वहीं दिवंगत किरण की पुत्री दीप्ति माहेश्वरी एवं परिजनों से मिलकर संवेदना भी व्यक्त की। गांवों में कई जगह संवेदना जताते वक्त माहौलं भावपूर्ण हो गया एवं कई महिलाएं फफक पड़ी तो किरण को याद कर कार्यकर्ताओं की आंखें छलछला उठी। मार्ग में कार्यकर्ता किरण माहेश्वरी अमर रहे…., जब तक सूरज चांद रहेगा-किरण तेरा नाम रहेगा…. जैसे नारे भी लगाते रहे। कोरोना से बचाव के लिए मास्क उपयोग आदि को लेकर सावधानी बरतने का आह्वान लगातार किया जा रहा था। प्रदेश की पूर्व बाल विकास मंत्री अनिता भदेल, भाजपा प्रदेश प्रवक्ता अमित गोयल, भाजपा की राष्ट्रीय मंत्री एवं नगर (भरतपुर) विधायक अनिता गुर्जर ने भी यात्रा में शिरकत कर किरण को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान पूर्व भाजपा जिला उपाध्यक्ष सत्यप्रकाश काबरा, पूर्व नगर अध्यक्ष महेन्द्र टेलर, युवा मोर्चा मण्डल अध्यक्ष भैरूलाल जोशी, मेघराज भील, नर्बदा जोशी, जगदीश दवे, ईश्वरसिंह, हमेरसिंह बल्ला, वेणीराम कुमावत, निर्भयसिंह, संतुदेवी जाट, गोपाल गुर्जर, भाजपा सम्भाग प्रवक्ता अनिल चतुर्वेदी, युवा मोर्चा पूर्व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य गोविन्द दीक्षित, प्रेम ओबरावल, हरीश शर्मा, यूआईटी के पूर्व न्यासी गुरूप्रीत सोनी आदि ने भी यात्रा कार्यक्रम में शिरकत कर नमन किया।

राजसमंद। विधायक स्व. किरण माहेश्वरी की अस्थि कलश यात्रा से पूर्व गढ़बोर में चारभुजानाथ के दर्शन करतें परिजन एवं अस्थि कलश के ग्राम्याचंल पहुंचने पर पुष्पाजंलि के बाद परिजनों को सात्वना देने उमड़ा जन सौलाब।

यात्रा आज दोपहर बाद पहुंचेगी शहर में

आयोजन के मीडिया प्रभारी एवं भाजपा जिला उपाध्यक्ष महेश आचार्य ने बताया कि अस्थी कलश यात्रा शनिवार सुबह आठ बजे केलवा क्षेत्र के देवपुरा से यात्रा प्रस्थान करेगी जो गामीण क्षेत्रों में भ्रमण कर दोपहर ढाई बजे कांकरोली मुखर्जी चौराहा पहुंचेगी। यहां से मुख्य मार्गो पर होते हुए राजनगर, धोइन्दा, हाउसिंग बोर्ड में भ्रमण कर देर शाम वीरभाणजी का खेड़ा पहुंचेगी। राजसमन्द शहर में मुखर्जी चौराहा, पुराना बस स्टेण्ड, जलचक्की तिराहा, मण्डा, फव्वारा चौक आदि जगहों पर अल्प विश्राम रहेगा जहां शहरवासी दिवंगत को भावांजलि दे सकेंगे। उन्होंने बताया कि इसके बाद अगले दिनों में यात्रा दर्जनों गांवों में भ्रमण करती हुई 28 दिसम्बर को दोपहर बाद मेवाड़ के हरिद्वार के रूप में विख्यात तीर्थस्थल मातकुुण्डिया पहुंचेगी। वहां धार्मिक रीति अनुसार अस्थि विसर्जन होगा।

चारभुजानाथ दर्शन के बाद पड़ासली से प्रारंभ हुई अस्थि कलश यात्रा

पूर्व मंत्री एवं राजसमंद विधायक स्व. किरण माहेश्वरी की अस्थि कलश यात्रा शुक्रवार को उदयपुर से पड़ासली पहुंची। यात्रा प्रारंभ हो उससे पूर्व पड़ासली से माहेश्वरी परिवार के सदस्य एवं कार्यकर्ता चारभुजा नाथ के दरबार पहुंचे। जहां पर श्रृंगार के दर्शन कर चरणामृत पूरे परिवार में जिसमें स्वर्गीय किरण माहेश्वरी के पति सत्यनारायण माहेश्वरी, पुत्र प्रशांत माहेश्वरी, दीप्ति माहेश्वरी, उनके जमाई शशांक माहेश्वरी पुत्रवधू कोमल माहेश्वरी ने दर्शन किए। वहीं चारभुजानाथ के चरणों में बैठकर किरण माहेश्वरी की आत्मा को शांति व प्रभु का वास सदैव उनके हृदय में बना रहे। ऐसी कामना की ऐसी कामना की उनको चारभुजा के प्रति काफी लगाव एवं श्रद्धा थी।