राजसमंद, चेतना भाट। जिले के प्रभारी मंत्री उदयलाल आंजना शनिवार को राजसमंद के दौरे पर रहे। उन्होंने जिला स्तरीय कोरोना जागरूकता अभियान के तहत शुभारंभ कार्यक्रम में भाग लेकर पत्रकारों से रूबरू हुए। पत्रकारा वार्ता में पत्रकार द्वारा पूछे गए जिला स्तर से जारी कोरोना संक्रमित आंकड़े को राज्य स्तर से जारी सूची में अंतर है…, के सवाल पर जवाब देते हुए आंजना ने कहा कि वेबसाइट पर ऑनलाइन संधारण में त्रुटी के कारण यह सब हुआ है। जिसे दुरूस्त करवा दिया जाएगा। इसी कारण जिले व राज्य स्तर से जारी कोरोना संक्रमण आंकड़ों में अंतर आ रहा है। वहीं विगत एक पखवाड़े में कोरोना संक्रमण से हुई मौत के आंकड़ों को भी छुपाया जा रहा है सवाल पर उन्होंने सीएमएचओ से जानकारी ली। इस पर सीएमएचओ ने कहा कि पिछले एक पखवाड़े में करीब एक दर्जन से अधिक लोगों की कोरोना से मौत हुई है लेकिन तकनिकी कारणों के चलते पॉर्टल पर दर्ज नहीं हुई है। उन्होंने ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना महामारी को लेकर सतर्क है, कोरोना का मार्च में पहला केस आया था। उसके बाद लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे है। ऐसे समय में जनता को जागरूक करना और सावधानी सबसे बड़ा उपाय है जब तक कोरोना की वैक्सीन नहीं आती तब तक सतर्क रहना होगा। उन्होंने कहां कि मुख्यमंत्री के आदेश पर प्रदेश के सभी प्रभारी मंत्री अपने-अपने जिले के दौरे पर रहेंगे।

जिससे जनता में संदेश जाएगा कि सरकार कोरोना को लेकर संवेदनशील है। लेकिन जनता को भी अपनी जिम्मेदारी समझनी चाहिए उन्होंने कहा कि जहां तक आवश्यक हो तभी बाहर निकले, बाहर निकलने से पूर्व सभी लोग मास्क पहनकर ही बाहर निकले और सैनिटाइजर का प्रयोग करें, बार-बार साबुन से हाथ धोएं व सोशल डिस्टेसिंग बनाए रखें तभी हम इस कोरोना महामारी से लड़ पाएंगे। वहीं उन्होंने कृषि कानून को लेकर कहा इन कानूनों को लेकर विरोध कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विपक्ष से ज्यादा आम जनता और किसान इन बिलों का विरोध कर रहा है। आंजना ने कहा कि केन्द्र सरकार को इन कृषि बिलों को लेकर विचार करना चाहिए था, आनन-फानन में इन्हें पास करने का काम किया। उन्होंने कहा कि कृषि बिल को लेकर एनडीए के सहयोगी दल अकाली दल ने भी इसका विरोध किया है और वह उनसे अलग हो गए। इस दौरान कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर, पीसीसी सदस्य हरिसिंह राठौड़, भीम विधायक सुदर्शनसिंह रावत, पूर्व जिला प्रमुख नारायणसिंह भाटी, जिला कलक्टर अरविंद कुमार पोसवाल, एसडीएम (आईएएस) सुशील कुमार, सीईओ जिप निमिषा गुप्ता, एएसपी राजेश गुप्ता, नप आयुक्त जनार्दन शर्मा, पूर्व विधायक गणेशसिंह परमार, आमेट पालिकाध्यक्ष कैलाश मेवाड़ा मौजूद थे।

कोरोना जागरूकता अभियान : नो मास्क नो एंट्री

जिले के प्रभारी मंत्री और सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने कहा कि कोरोना महामारी से बचने के लिए सावधाना सजग व सतर्क रहे, कोरोना अभी गया नही है व इसकी अभी वैक्सीन नही बनी है, इसलिये सावधानी रखना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इसके लिये सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है कि आमजन के जीवन को बचाया जा सके इसके लिये सरकार कोरोना जागरूकता अभियान लगातार चला रही है। प्रभारी मंत्री आंजना ने शनिवार को जिला स्तरीय कोरोना जागरूकता अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि कोरोना का मुकाबला जागरूक रहकर करें व सावधानी बरतते हुए सभी कार्य साथ ही इसके लिये मास्क पहनना अति आवश्यक है। सभी लोग मास्क पहने और दूरी का पालन करें, थूके नहीं, आपस में दूरी का ध्यान रखें व बार-बार साबुन से हाथ धोएं। प्रभारी मंत्री ने कोरोना जागरूकता अभियान के अन्तर्गत कोरोना जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखायी। इसके साथ ही उन्होंने कोरोना जागरूकता सामग्री, आडियो सीडी व मीडीया कर्मियो को मास्क वितरित कर शुभारंभ किया। इसके साथ ही स्वायत शासन विभाग व जिला प्रशासन द्वारा नो मास्क नो एन्ट्री के पोस्टरर्स का भी विमोचन किया।