राजसमंद, चेतना भाट। स्वछ भारत मिशन के तहत ओडिएफ प्लस के द्वितीय चरण में जिले की सभी पंचायत में ठोस व तरल कचरा प्रबंधन के कार्य किये जा रहे। इसके लिए प्रत्येक ग्राम की वास्तविक स्थिति की डीपीआर तैयार करके कार्य आरंभ होंगे। इसी क्रम में पंचायत समिति राजसमंद में द्वितीय चरण के तहत बामण टुकड़ा, पुठोल, बड़ारड़ा, पिपलांत्री में दो दिन से सर्वे चल रहा है तथा प्रत्येक पंचायत में 10 अधिकारियों और कर्मचारियों की टीम गठित की गई है। इसी के तहत रविवार अल सुबह विकास अधिकारी भुवनेश्वरसिंह चौहान व प्रधान अरविंद सिंह राठौड़ ने गांवो में स्वयं गली मोहल्लों में घूम कर सफाई व्यवस्था के हालात देखे और गांवो को गन्दगी मुक्त करने के लिए कार्ययोजना तैयार कर स्थान चिन्हित किए। प्रधान अरविंद सिंह राठौड़ ने बताया कि अभियान के तहत सभी गांवों में नाली मरम्मत नई नालियां निर्माण कचरा प्रबंधन के लिए डंपिंग यार्ड कचरा संग्रहण के लिए ई-रिक्शा, नियमित साफ-सफाई, सोखता गड्ढा निर्माण आदि कार्य किए जायेंगे। वही पंचायत की निजी आय बड़े इस के लिए भी आवश्यक कार्य होंगे। विकास अधिकारी चौहान ने बताया कि उपरोक्त कार्यक्रम में आवश्यक बजट स्वच्छ भारत मिशन ग्राम पंचायत को प्राप्त पन्द्रहवा वित्त आयोग की राशि एवं मगा नरेगा से कार्य स्वीकृति होगी। अतिरिक्त विकास अधिकारी मोहनलाल कुमावत ने बताया रविवार को बिडिओ व प्रधान ने ग्रामीणों के साथ भी मीटिंग करके उक्त कार्य योजना के सुझाव लिए गए। इस दौरान सरपंच लेहरुलाल दवे, पूर्व सरपंच जगदीश दवे, खुमसिंह मुंदावत, ग्राम विकास अधिकारी अर्जुनसिंह राठौड़, जगदीश कुमावत, जोगेन्द्र शर्मा, एलडीसी दलपतसिंह झाला, जितेंद्र गोयल, सहायक मांगीलाल कुमावत, गोपीलाल कुमावत, पंचायत सहायक लियाकत अली, राकेश पालीवाल सहित वार्डपंच उपसरपंच आंगनबाड़ी कार्यकर्ता घर-घर घूम कर सर्वे कार्य और योजना तैयार कर रहे हैं।