राजसमंद, चेतना भाट। टीबी संभावित रोगियों की खोज के लिए विशेष अभियान चलाएं जिसमें यह सुनिश्चत करेें कि प्रत्येक गांव से हर माह दो टीबी संभावित मरीजों के सेम्पल लें तथा पुराने टीबी रोगी जिनके रिपोर्ट नेगेटीव आ गई है उनका भी पुन: सेम्पल लेना सुनिश्चित करें। यह निर्देश सीएमएचओ डॉ. पीसी शर्मा ने स्वास्थ्य भवन में आयोजित राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए दिए। उन्होंने कहा कि जिले में निजी चिकित्सा संस्थानों की भागीदारी राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम में बढ़ाने की आवश्यक है। उन्होंने टीबी हाईरिस्क एरिया की पहचान कर वहां विशेष टीबी स्क्रीनिंग शिविर आयोजित करने के निर्देश दिए तथा जिले के शत प्रतिशत टीबी मरीजों को निक्षय पोषण योजना के माध्यम से सरकार द्वारा दी जा रही प्रोत्साहन राशि डीबीटी के माध्यम से सीधे लाभार्थी के बैंक खातो में हस्तांतरित करने के लिए कहा। डॉ. शर्मा ने कहा कि आशा एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ता की सक्रीय भूमिका सुनिश्चित करते हुए टीबी रोगियों की खोज करने तथा निर्धारित उपचार समय पूरा करें इसके लिए मोनिटरिंग सुनिश्चित करें।