जिला सर्तकता समिति की बैठक आयोजित, 2 प्रकरणों का निस्तारण
राजसमंद, चेतना भाट। जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल ने जिला स्तरीय अधिकारियों को कहा कि वे सतर्कता समिति में उपखंड अधिकारियों व विभागीय अधिकारियों, विकास अधिकारियों तथा अन्य दर्ज प्रकरणों का प्राथमिकता व शीघ्रता से प्रकरणों का निस्तारण करें। जिला कलक्टर पोसावाल गुरुवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला जन अभाव अभियोग निराकरण एवं सतर्कता समिति की बैठक में उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे। इस दौरान समिति में दर्ज कुल 8 प्रकरणों में से 2 प्रकरणों का हाथों-हाथ निस्तारण किया गया तथा शेष प्रकरणों का निस्तारण करने के निर्देश दिए।

प्रकरणों में 2 प्रकरण निस्तारित


एडीएम राकेश कुमार ने बैठक में प्रकरणों के सम्बन्ध में सम्बन्धित अधिकारियों को विस्तार से आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस अवसर पर समिति में अतिक्रमण हटाने बिलानाम एवं रास्ता की भूमि से अतिक्रमण हटवाने के सम्बन्ध में, ग्राम भैंसाकमेड़ में अतिक्रमण, छतरियों के पास भीलवाड़ा रोड़ अतिक्रमण हटाने, खमनोर मादरेचों का गुड़ा, दीपक कुमार पिता रणजीत यादव कोठारिया का खाद्य सुरक्षा में नाम जुड़वाने के लिए प्रकरण राज्य सरकार को, मदनलाल पिता रामलाल राजनगर में रास्ता चौड़ा करने के प्रकरण, खमनोर में मनरेगा में मेट से सम्बन्धित प्रकरण में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इस अवसर पर नगर परिषद आयुक्त जनार्दन शर्मा, जिला रसद अधिकारी संदीप माथुर, पुलिस सम्बन्धित क्षेत्रों के तहसीलदार भीम, आमेट, राजसमन्द विकास अधिकारी एवं सम्बन्धित विभागों के विभागीय अधिकारी व परिवादी उपस्थित थे।


जिला कलक्टर ने अधिकारियों को आमजन की समस्याओं का करें निस्तारण: पोसवाल


जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल ने गुरूवार को विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे आमजन की समस्याओं को सुनकर उनके मामलों को जल्द निपटाएं। जिला कलक्टर पोसवाल ने जिला कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जनसुनवाई में अधिकारियों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने जनसुनवाई में प्रकरणों की सुनवाई की और आवश्यक कार्यवाही के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिए। जनसुनवाई के दौरान आमजन की समस्याओं के 6 प्रकरण आए। जिसमें 2 सतर्कता में लिए गए। इसके साथ ही उन्होंने आमजन की परिवेदनाओं को सुनकर उनके शीघ्र निस्तारण के लिए सम्बधित अधिकारियों को निर्देश दिए।