खमनोर। मोलेला में पानी की टंकी से सप्लाई चालू करने गए जलदाय विभाग के कर्मचारी की पैर फिसलने से टंकी ने नीचे गिर गया। सिर में चोट लगने से कर्मचारी की मौत हो गई। थानाधिकारी कैलाशसिंह ने बताया कि परावल निवासी मृतक मानसिंह (44) पुत्र रोडसिंह राजपूत जलदाय विभाग में कार्यरत था एवं मोलेला क्षेत्र में पीने के पानी की सप्लाई का काम देखता था। शनिवार को देर शाम मोलेला से खेड़ी सडक़ के बीच स्थित पानी की टंकी पर पानी की सप्लाई देखकर टंकी से नीचे उतरने के दौरान पैर फिसलने से नीचे गिर पड़ा। हादसे में कर्मचारी के सिर पर गंभीर चोट लग गई। घटना के दौरान आस-पास में मौजूद लोग घायल कर्मचारी को तुरंत चिकित्साल लेकर पहुंचे। लेकिन बीच रास्ते में ही कर्मचारी की मौत हो गई। सूचना मिलने पर एएसआई रामसिंह यादव, कोंस्टेबल मोहन, श्रवण कुमार ने शव को कब्जे में लेकर खमनोर मोर्चरी में रखवाया। रात अधिक हो जाने से शव का शनिवार सुबह परिजनों की मौजूदगी में पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सुपुर्द किया। मृतक के पुत्र की रिपोर्ट पर पुलिस ने मर्ग में मामला दर्ज किया। जलदाय विभाग के कर्मचारी की मौत को लेकर शनिवार को मोलेला कस्बा पूरा बन्द रहा तथा सभी ग्राम वासियो ने मृतक को श्रद्धांजलि दी।

मानव सेवा परमात्मा की सच्ची सेवा : मुनि रितेश

खमनोर। जैन संत रितेश मुनि ने शनिवार को कस्बे के अम्बेश शौभाग्य मदन स्थानक भवन में धर्मसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि मानव मात्र की सेवा ही परमात्मा की सबसे सच्ची सेवा है। हमको सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहना चाहिए। इससे पूर्व प्रभात मुनि ने भी धर्मसभा को सम्बोधित किया। जैन संतों का शुक्रवार देर रात कालोड़ा से खमनोर में प्रवेश करने पर जैन समाज के लोगों ने स्वागत किया। इस दौरान प्रकाश चंद्र मांडोत, बसंतीलाल लोढ़ा, प्रफुल्ल मांडोत, संजय मांडोत, भगवतीलाल लोढ़ा, रणजीत लोढ़ा, लालचन्द कोठारी, बंशीलाल मांडोत, किशनलाल मांडोत, मीठालाल कागरेचा जैन समाज के कई लोग मौजूद थे।