• काननू, शांति एवं प्रशासनिक व्यवस्था के आदेश जारी
    – मतगणना को लेकर तैयारियों में जुटा प्रशासनिक अमला
    राजसमंद, चेतना भाट। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल ने मतगणना की व्यवस्थाओं एवं प्रबंधों के लिये दिशा निर्देश को लेकर आदेश जारी किए है। जिसमें जिला पंचायत आम चुनाव 2020 के लिए मतदान में प्रयुक्त ईवीएम एवं पोस्टल बैलट पेपर की मतगणना का कार्य मंगलवार 8 दिसम्बर को जिले के राजकीय पोलिटेक्निक महाविद्यालय में किया जाएगा। मतगणना कार्य के दौरान कानून व्यवस्था एवं लोग शांति बनाए रखने के लिए मतगणना परिसर में व्यवस्थाएं किए जाने के निर्देश दिए है। 8 दिसम्बर को पेटियों में बंद मतदाताओं के मतों के की गणना के साथ ही प्रत्येक प्रत्याशियों के भाग्य की गणना की जाएगी। मतगणना के साथ की उम्मीदारों के भाग्य स्पष्ट हो पाएगा। मतगणना को लेकर प्रशासन की ओर से तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम से मिलेगी रूझान की जानकारी

आगामी 8 दिसम्बर को राजकीय पोलेटेक्निक कोलेज में होने वाली मतगणना के रूझानों सम्बन्धि जानकारी की घोषणा के लिए कोलेज के मुख्य द्वार एवं अंदर की ओर पब्लिक ऐड्रेस सिस्टम लगाया जाएगा। जिससे की आमजन मतगणना की रूझानों की घोषणा आसानी से हो सके। जानकारी के प्रदर्शन के लिए सनमाईका बोर्ड की व्यवस्था नगर परिषद आयुक्त के निर्देशानुसार सहायक अभियान पीडब्ल्यूडी के द्वारा की जाएगी।

ये रहेगी प्रवेश व्यवस्था

राजकीय पोलिटेक्निक कोलेज के मुख्य प्रवेश द्वार एक से ड्युटी पर कार्यरत सभी अधिकारियों, कर्मचारियों एवं मतगणना स्टाफ का प्रवेश रहेगा। जबकि जिला निर्वाचन अधिकारी, एसपी, पर्यवेक्षक, उप जिला निर्वाचन अधिकारी, जिला परिषद सीईओ, नाथद्वारा मंदिर मंडल सीईओ, एएसपी, जिला परिषद एसीईओ सहित सभी एसडीओ, मंदिर मंडल संपदा अधिकारी, सभी तहसीलदार एवं प्रशासनिक अधिकारियों के वाहनों का मुख्य द्वार से प्रवेश रहेगा। इसी प्रकार उम्मीदवारों एवं मतगणना एजेंटों का प्रवेश महाविद्यालय भवन के मुख्य द्वार के पास दक्षिण दिशा में प्रवेश द्वार दो में से होगा। जिन्हें अनिवार्य रूप से अपनी पहचान एवं अनुमति पत्र सुरक्षा अधिकारियों को दिखाना होगा। बिना अनुमति पत्र एवं पहचान पत्र के किसी भी निजी व्यक्ति अथवा एजेंट का प्रवेश वर्जित होगा। केवल निवार्चन लडऩे वाले अभ्यर्थियों को एक वाहन लाने की अनुमति होगी। ऐसे वाहन के नंबर पुलिस अधिकारियों को 5 दिसम्बर से पूर्व बताना आवश्यक होगा। निर्वाचन अभिकर्ता एवं मतगणना अभिकर्ता के किसी भी तरह के वाहन का महाविद्यालय भवन के भीतर प्रवेश वर्जित होगा।

मोबाइल का उपयोग वर्जित

मतगणना परिसर में पर्यवेक्षक, जिला परिषद, पंचायत समिति, जिला निर्वाचन अधिकारी, अतिरिक्त जिला निर्वाचन अधिकारी, सीईओ, एसीईओ, नाथद्वारा मंदिर मंडल सीईओ, समस्त रिटर्निंग अधिकारी, नगर परिषद आयुक्त आदि सहित तमाम चुनावी अधिकारियों के अलावा मतगणना केन्द्र के अंदर मोबाईल ले जाना वर्जित रहेगा। सुरक्षा जांच के दौरान यह सूचित कर लिया जायेगा कि मतगणना परिसर के भीतर किसी अन्य व्यक्ति द्वारा मोबाइल का उपयोग किया जाने की दशा में पुलिस अधिकारी संबंधित का मोबाइल फोन तत्काल जब्त कर लिया जाएगा। मतगणना सुपरवाइजर एवं मतगणना सहायक अर्थात मतगणना हॉल में ड्यूटी देने वाले मतगणना स्टॉप भी मतगणना परिसर में मोबाइल फोन नहीं कर सकेंगे। वहीं प्रेस मीडिया कर्मी, मीडिया सेंटर तक की मोबाइल ले जा सकते हैं तथा अन्य स्थानों पर मोबाइल का फोन का प्रयोग वर्जित रहेगा। मतगणना परिसर में अन्य व्यवस्थाओं के लिए लगना सूची में निम्नानुसार अधिकारी कर्मचारी ही मोबाइल फोन के साथ प्रवेश कर सकेंगे

पार्किंग व्यवस्था

मतगणना के दौरान केन्द्र में प्रशासनिक अधिकारियों के वाहनों की पार्किंग व्यवस्था मुख्य द्वार प्रवेशद्वार एक के अंदर ही की जाएगी। निर्वाचन ड्यूटी पर कार्यरत सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों और मतगणना स्टाफ के लिए पुलिस लाइन राजसमंद के परिसर में की जाएगी। इसी प्रकार अभ्यर्थी निर्वाचन अभिकर्ता एवं मतगणना अभिकर्ता और अन्य निजी व्यक्तियों के वाहनों की पार्किंग कोलेज के मुख्य द्वार के पास दक्षिण दिशा में प्रवेश द्वार दो की पीछे की ओर रहेगी।

ऐसे रहेगी अन्य व्यवस्थाएं

मतगणना केन्द्र में मतगणना के दौरान पेयजल एवं अग्रिशमन जैसी व्यवस्थाए नगर परिषद की ओर से की जाएगी। वहीं भोजन व्यवस्था रसद विभाग की ओर से, पुलिस प्रशासन की ओर से आवश्यक स्थानों पर समुचित रूप से बेरी कटिंग की व्यवस्था की जाएगी। वहीं सीएमएचओ एवं पीएमओ द्वारा संयुक्त रूप से मतगणना स्थल पर चिकित्सकों का एक दल पैरामेडिकल स्टाफ सहित आवश्यक दवाइयों उपकरणों एवं एंबुलेंस के साथ तैनात रहेगे। इसी के साथ मतगणना स्थल के प्रवेश द्वार एक पर निर्वाचन ड्यूटी पर कार्यरत सभी अधिकारियों कर्मचारियों के थर्मल स्क्रीनिंग तथा सैनिटाइज कराने की व्यवस्था सुनिश्चित करेंगे। मतगणना स्थल के प्रवेश द्वार पर अभ्यर्थी निर्वाचन अभिकर्ता एवं मतगणना अभिकर्ता और अन्य निजी व्यक्तियों की तथा कराने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।