पिछले तीन दिनों में 4 डिग्री बढ़ा न्यूनतम तापमान
राजसमंद, चेतना भाट। पिछले तीन दिनों से अधितम तापमान के साथ ही न्यूनतम तापमान में बढ़ोत्तरी होने के कारण ठंड से थोड़ी राहत मिली है। गत एक सप्ताह पूर्व राजसमंद में न्यूनतम तापमान करीब 1.5 डिग्री तक पहुंच जाने से खेतों व वाहनों आदि पर रात्रि के समय ओंस की बूंदों ने बर्फ का रूप ले लिया। लेकिन पिछले दिन दिनों से अधिकतम तापमान में बढ़ोत्तरी के साथ ही दिन में खिलकर धुप मिलने से लोगों को ठंड से थोड़ी रात मिली है। शुक्रवार एवं शनिवार को ठंड से थोड़ी राहत मिली। हालांकि शाम होते होते बढ़ती ठंड एवं रात्री में ओस गिरने से ठंड का असर देखा गया। शनिवार को अधितम तापमान एक डिग्री बढ़त के साथ 28 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि न्यूनतम तापमान स्थिरता के साथ 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जबकि शुक्रवार को अधिकतम तापमान 27 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। ईधर, मौसम में भले ही तापमान में चढ़ाव आया हो लेकिन सुबह व शाम को ठंड के साथ ही कोहरा छा रहा है। सुबह के समय कोहरा छाने से सूर्य देव की तेज किरणें भी हल्की महसूस हो रही है।


बढ़ी सर्दी की खुराक की मांग


घटती बढ़ती सर्दी के साथ ही दिन दिनों सर्दी की खुराक गजक एवं मेवा की मांग काफी बढ़ गई है। शहर सहित जिले के कई स्थानों पर पारम्परिक तरिके से तिल्ली की गजक एवं मेवा तैयार किया जा रहा है। चारभुजा तहसील समीप गोमती जोधपुर स्टेट हाईवे गोमती सडक़ किनारे पर सर्दी के आते ही 3 माह के लिए पिछले 8 वर्षों से भीलवाड़ा जिला के करेड़ा रादुवास गांव का लादूलाल तेली इस वर्ष भी सर्दी का मेवा तैयार कर लोगों को खिला रहे है। सडक़ किनारे एक बैल के माध्यम से पाम्परिक रूप से प्रतिदिन 2 घंटे में 10 किलो जगल और एक दिन छोडक़र 10 किलो मेवा तैयार करता है। मेवा तैयार करते समय उसमें काजू, बदाम, पिस्ता की कतरन भी भी डाली जाती है जिससे मेवा खाने में और भी स्वादिष्ट लग रहा है। स्थानीय गौमती चौराया, जनावद, लाम्बोड़ी, धानीन सहित गांव में 2 सौ से ढाई सौ रुपए किलो तक बिक्री की जा रही है।


21 से 26 दिसम्बर तक का तापमान
दिन अधिकतम न्यूनतम


21 दिसम्बर 27.2 4.5
22 दिसम्बर 27.2 4.5
23 दिसम्बर 27 5.6
24 दिसम्बर 28 5.6
25 दिसम्बर 28 5.5
26 दिसम्बर 27 5.5