खमनोर। अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए निधि संग्रह को लेकर सलोदा में बैठक का आयेाजन किया गया। बैठक में उपस्थित सदस्यों को गांव-गांव, ढाणी-ढाणी से निधि धन संग्रह का कार्य सौंपा गया। इसी के साथ कार्यकारिणी का गठन किया गया जिसमें कार्यकारी अध्यक्ष दीपक लक्षकार, लक्ष्मीलाल जैन, उपाध्यक्ष मदन सोनी, मंत्री उमेश नागदा, सहमंत्री शैलेष सेन, रमेशचंद्र लौहार, संयोजक सायर नाथ, सह संयोजक इंद्रसिंह, राजू जोशी, सुरक्षा संयोजक अमर गायरी, गौ रक्षा प्रमुख विमलनाथ, सह गौरक्षा प्रमुख गिरिराज जोशी, राजु जोशी, महेंद्रसिंह, अभयसिंह, व्यामशाला प्रमुख मनीष नाथ, सह व्यायामशाला प्रमुख जितेंद्र नाथ, विनोद पालीवाल, प्रवीण टेलर, रौनक लौहार को नियुक्त किया। इसी प्रकार चिकलवास आश्रम में भी शिशोदा व सायों का खेड़ा मंडल की बैठक हुई। राम शंकर पुरोहित ने बताया कि बैठक में प्रत्येक गांव के लिए ग्राम प्रमुख तय किए गए एवं हिन्दू समाज परिवार एवं व्यक्ति से राम मंदिर निर्माण के लिए निधी का संग्रहण किया जाएगा।

युवाओं से की भारत को आत्मनिर्भर बनाने की अपील

राजसमंद। आत्म निर्भर भारत विषय पर एसआरके कोलेज के ईएएफएम विभाग की ओर से वेबीनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में देशभर से करीब तीन सौ प्रतिभागियों ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया एवं करीब 10 राज्यों से प्रतियोगितयों ने भाग लिया। प्राचार्या डॉ. रचना तेलंग ने कार्यक्रम का आगाज करते हुए सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया। वेबीनार के प्रमुख वक्ता स्वदेशी जागरण मंच के कमलजीत ने विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से भारत किस प्रकार परम वैभव पर पहुंच सकता है तथा कैसे आत्मनिर्भर बन सकता है आदि की जानकारी दी। बाड़मेर जिले के धोरीमन्ना के युवा आईपीएस कृष्ण कुमार विश्नोई ने युवाओं से देश की समृद्धि खुशहाली और विकास के लिए भारत को आत्मनिर्भर बनाने की सोच विकसित करने की अपील की। वहीं दिल्ली विश्वविद्यालय डिप्टी प्रॉक्टर और दिल्ली सीएसडी अध्यक्ष डॉ. राजकुमार फुलवरिया ने विभिन्न आयामों में भारत को आत्मनिर्भर बनने के लिए किए जाने वाले प्रयासों एवं विभिन्न विकल्पों को विस्तार से बताया। पटना विश्वविद्यालय प्रोफेसर डॉ. गुरुप्रकाश ने भी सम्बोधित किया। संचालन डॉ. कृष्ण कुमार कुमावत ने किया तथा कार्यक्रम की सम्पूर्ण रूप रेखा विभागाध्यक्ष सोहनलाल गोसाई द्वारा प्रस्तुत की। कार्यक्रम के संचालन प्रमुख के रूप में दिनेश कुमावत, अंजली शर्मा, अनिता कुमावत, कैलाश सालवी, कुणाल, रुचि द्विवेदी, जिज्ञासा सनाढ्य, देवेन्द्र पालीवाल, प्रदीप रेबार आदि उपस्थित थे।