राजसमंद, चेतना भाट। वैश्विक महामारी कोरोना के प्रकोप के चलते इस बार शारदीय नवरात्रों के अवसर पर हर वर्ष की तरह होने वाले गरबा महोत्सव की धूमधाम देखने को नहीं मिल रही। लेकिन लोगों में दान पुण्य तथा पूजा अर्चना का भाव कम नहीं हुआ है। नवरात्री के तीसरे दिन शक्ति स्वरूपा दुर्गा माता के चंद्रघंटा स्वरूप की आराधना की जाती है। ऐतिहासिक दुर्ग किला कुंभलगढ़ के परकोटे के भीतर में बसी हुई भील बस्ती की 51 बच्चियों को शिक्षक कैलाश सामोता की ओर से आशापुरा माता मंदिर में बच्चियों को रंग बिरंगे परिधान भेंट किए। कन्याओं ने नवीन परिधान पहनकर खुशी का इजहार किया। इस दौरान बालिकाओं के परिजनों से बालिकाओं की शिक्षा, स्वच्छता, शारीरिक स्वास्थ्य तथा संस्कारों पर बल देने का आग्रह किया तथा पढ़ाई में आ रही बाधाओं के लिए हर संभव सहयोग करने का आश्वासन दिया। महाराणा कुंभा राजकीय महाविद्यालय कुंभलगढ़ सहायक प्रोफेसर कृष्ण कुमार चौधरी ने बालिकाओं को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने, उन्हें हर संभव सुविधाएं उपलब्ध कराने तथा सरकारी योजनाओं से जोडऩे का आग्रह किया। इस अवसर पर कालूराम मेघवाल, चेनाराम भील, दल्ला राम आदि सहित भील बस्ती के बालक-बालिकाएं उपस्थित थे।

जिला युवा सलाहकार समिति की बैठक आज

कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल की अध्यक्षता में जिला युवा कार्यक्रम सलाहकार समिति एवं जिला युवा बोर्ड की बैठक का आयोजन मंगलवार को प्रात: 11 बजे जिला कलेक्ट्रेट सभागार में किया जाएगा। यह जानकारी जिला युवा समंवयक पवन घोसलिया ने दी।