– केलवा के भामाशाहों के जनसहयोग से तैयार हुए दोनों भवन
– जिला कलक्टर ने की भामाशाहों के कार्यों की सराहना

राजसमन्द, चेतना भाट। जिला कलक्टर अरङ्क्षवद कुमार पोसवाल ने बुधवार को केलवा कस्बे में भामाशाह द्वारा करोड़ों की लागत से बनाए गए चिकित्सालय एवं विद्यालय भवन का निरीक्षण किया। इस मौके पर भामशाह तनसुख बोहरा व नरेन्द्र बोहरा ने जिला कलक्टर का स्वागत किया। पोसवाल ने भामाशाहों द्वारा किए गए कार्य की सराहना करते हुए प्रशंसा की। उन्होंने चिकित्सा भवन में मरीजों के वार्ड, लेबर रूप, चिकित्सकों के कक्षों का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान मौजूद पीसीसी सदस्य हरिसिंह राठौड़ ने बताया कि चिकित्सालय में डॉक्टरों की कर्मी को लेकर बनाया गया है। उन्होंने कैंटिंन बनाने तथा जल्द से जल्द चिकित्सा भवन का उद्घाटन करने की बात कही। राठौड़ ने पुराने चिकित्सा केन्द्र के बारे में बताते हुए कहा कि अगर केलवा पंचायत नायाब तहसील में परिवर्तित होती है तो उस समय के लिए यह चिकित्सा भवन काम आ सकता है। इसके बाद जिला कलक्टर ने विद्यालय भवन का निरीक्षण किया तथा जल्द से जल्द विद्यालय भवन के उद्घाटन की बात कही। इस अवसर पर पूर्व सरपंच दिग्विजयसिंह राठौड़, महेन्द्र कोठारी, तनसुख बोहरा, नानालाल सुर्दुल, कर्णवीरसिंह, मुकेश भार्गव, लवेश मादरेचा, मुकेश कोठारी, देवीलाल सिंघल, मनीष पालीवाल, डॉ. सुरेन्द्र निठारवाल, अर्चित बोहरा आदि उपस्थित थे। 
दोनों भवनों के निर्माण से मिलेगी राहत: ग्रामीणों की मूलभूत सेवा के तहत केलवा के भामाशाहों द्वारा सराहनीय कार्य करते हुए करोड़ों अनुदान से चिकित्सा एवं विद्यालय भवन तैयार किए गए है। अब दोनों भवनों का उद्घाटन किया जाना बाकी है। केलवा कस्बे में भामाशाह परिवार के सहयोग से तैयार किए जाने वाले दोनों भवन कस्बे को नई पहचान देने वाले है। जहां पर कांगे्रस सरकार की ओर से 2014 में केलवा के राजकीय प्राथमिक चिकित्सालय को सामुदायिक चिकित्सालय में क्रमोन्नत करने की घोषणा तो कर दी। लेकिन चिकित्सालय के लिए जगह व भवन छोटे पड़ गए। इस पर भामाशाह तनसुख बोहरा ने अपने पिता स्वर्गीय भैरूलाल बोहरा की स्मृति में चिकित्सालय भवन बनाने के लिए दो करोड़ 95 लाख रुपए जनसहभागिता योजना के अन्तर्गत भेंट कर योजना के अनुसार पांच करोड़ 25 लाख की लागत से केलवा पंचायत के द्वारा थाने के पीछे करीब 8 बीघा जमीन आवंटित की। जिस पर चिकित्सालय भवन निर्माण का कार्य पूर्ण हो चुका है। इसी के साथ ही केलवा में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय के लिए भी भवन छोटा पडऩे पर बोहरा परिवार ने इसके लिए एक करोड़ सात लाख रुपए जनसहभागिता योजना में देकर फुलीदेवी, अंशुल बोहरा राउमावि केलवा के नाम से विद्यालय भवन तैयार किया है। जिससे कस्बे के विद्यार्थियों को सभी सुविधा युक्त अति आधुनिक भवन में शिक्षा का अवसर प्राप्त होगा। 
ये मिलेगी सुविधाएं: चिकित्सालय में 8 चिकित्सकों की नियुक्त होगी। जिसमें दो चिकित्साधिकारी, एक डेंटिस्ट चिकित्सक, एक सर्जन सहित स्त्री रोग विशेषज्ञ, शिशु रोग, हड्डी रोग विशेषज्ञ, एक मेडिशियन चिकित्सक नियुक्त किया जाएगा। चिकित्सालय में अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी के साधन डिजिटल सोनोग्राफी, ऑपरेशन थियेटर, आईसीयू वार्ड, प्रयोगशाला के साथ ही 30-30 बैड वाले महिला-पुरुष के वार्ड बनाए गए है। वहीं पार्किंग सुविधा, दवाई वितरण केन्द्र, कैंटिंग के अलावा चिकित्सकों के लिए दो क्वाटर उपलब्ध होंगे। इसी प्रकार विद्यालय भवन में विद्यार्थियों के बैठने के लिए बड़े-बड़े कक्षा कक्षा, बैंच-टेबल, डिजिटल बोर्ड बनाए गए है। वहीं 15 कमरे और एक बड़ा सभागाार, स्मार्ट क्लास कक्ष, विज्ञान प्रयोगशला, आईसीटी रूम का निर्माण किया गया है। वहीं पूरे विद्यालय भवन परिसर में सीसी टीवी कैमरे स्थापित किए गए है। इसी के साथ विद्यार्थियों के लिए मनोरंजन के लिए खेलकूद मैदान व खेल सामग्री की सुविधाएं उपलब्ध होगी।