राजसमंद, चेतना भाट। पुष्टिमार्गीय तृतीय पीठ प्रन्यास द्वारकाधीश मंदिर में गुरुवार को महाप्रभु वल्लभाचार्य के द्वितीय पुत्र गोसाई विलनाथ का प्राकट्य उत्सव बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाएगा। मंदिर से प्राप्त जानकारी अनुसार इस मौके पर प्रभुश्री द्वारकाधीश को विशेष श्रृंगार धराया जाएगा। वहीं राजभोग के दर्शन में प्रभु के समक्ष मंदिर पुरोहित द्वारा पंचांग का वाचन किया जाएगा। इससे पूर्व द्वारकेश गार्ड द्वारकाधीश मंदिर बैंड के साथ विल विलास बाग से परेड करते हुए द्वारकाधीश मंदिर पहुंचेंगे जहां सलामी ली जाएगी। जलेबी उत्सव के मौके पर प्रभु द्वारकाधीश को विशेष जलेबी का भोग धराया जाएगा। मंदिर मान्यता अनुसार इसी दिन से ही दिन का समय जलेबी की तरह बड़ा होना आरंभ हो जाता है। इस विशेष उत्सव पर प्रबोधिनी एकादशी से बसंत पंचमी तक बंद रहने वाले शयन के दर्शन भी आमजन के लिए खोले जाएंगे। गोसाई वि_लनाथ का पुष्टि संप्रदाय में अहम योगदान रहा है उन्होंने अपने साथ पुत्रों को सात स्वरूप सौंपकर पुष्टिमार्गीय हवेलियों की स्थापना करवाई थी।

एमड़ी में प्रधानाचार्य ने कार्यभार संभाला

राजसमंद। राजकीय उमावि एमड़ी में बुधवार को कुरज से स्थानांतरित होकर प्रधानाचार्य का पद भार संभाल लिया है। विद्यालय के वरिष्ठ शारीरिक शिक्षक विद्याधर सालवी ने बताया कि नये प्रधानाचार्य का स्वागत स्थानीय विद्यालय परिवार के अलावा ग्राम पंचायत के सभी कर्मचारियों ने ईकलाई पहनाकर किया। इस अवसर पर सरपंच मंागीलाल सालवी, पूर्व सरपंच मांगीलाल कुमावत, दिनेशि कुमावत, पटवारी रोहित पालीवाल, लक्ष्मीलाल गोपाल कुमावत, राष्ट्रीय शिक्षक संघ विनोद आचार्य ने माल्यार्पण कर स्वागत किया। संचालन विद्याधर सालवी ने किया।

रक्त की कमी पर युवाओं ने किया रक्तदान

राजसमंद। आर के हॉस्पिटल में ब्लड की कमी को देखते हुए मधुकर रक्त पेढ़ी ने युवाओं को प्रेरित कर रक्तदान करवाया गया। इस पर रक्तदाता अजय कुमावत, मुकेश कुमावत, देवीलाल गुर्जर, पवन टांक, गोपीलाल गुर्जर, ईश्वर मेवाड़ा, मांगीलाल गुर्जर एवं कैलाश गुर्जर ने रक्तदान कर अपना सहयोग दिया। रक्तपेढ़ी के सचिव रतन कुमावत, रतन जाट, ब्लड बैंक कर्मयोगी रमेश सुथार आदि ने रक्तदाताओं कासे सम्मान पत्र देकर आभार व्यक्त किया।