फरारा आगजनी में मृतक बच्चे के परिजनों से मिले सहायक निदेशक
राजसमंद, चेतना भाट। हाल की में फरारा ग्राम के भैरू की ढाणी में स्थित एक बाड़े में लगी आग में जिंदा जलकर हुई 6 वर्षीय बालक महेन्द्रसिंह की मौत की खबर प्रकाशित होने के बाद बाल अधिकारिता विभाग सहायक निदेशक कृष्णकांत सांखला एवं बाल कल्याण समिति अध्यक्षा भावना पालीवाल बच्चे के परिजनों से मिलने फरारा पहुंचे। इस दौरान सांखला ने परिजनों से सरकार की ओर से मिलने वाली विभिन्न योजनाओं तथा पालनहार एवं विद्यार्थी दुर्घटना बीमा आदि का लाभ दिलाने की बात कही। आगजनी के दौरान बड़ी बहादूरी से आग में गिरने के बाद भी अपनी बड़ी बहन को बाड़े से बाहर निकालने के साहस की सराहना करते हुए खुद के बाड़े से बाहर नहीं आ पाने पर दु:ख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इतनी सी छोटी उम्र में बालक ने बहादुरी व त्याग का उदाहरण दिया है। बहादुर बालक की रिपोर्ट राज्य सरकार को भेजी जाएगी। बालक की माता ने बाल्य कल्याण समिति अध्यक्षा पालीवाल को बताया कि बालक के पिता की मौत एक सडक़ दुर्घटना में हो चुकी है। वह गाय-भैंसों का पालन कर एवं आस-पास के खेतों में चारा काटकर घर परिवार का गुजारा चलाती है। उसने घर में बिजली व नल कनेक्शन नहीं होना बताया। इस पर पालीवाल ने परिवार को हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया। इसी के साथ पास ही स्थित राउमावि बोरड़ के शिक्षकों ने नो हजार रुपए की आर्थिक सहायता दी।