विगत दो वर्षो में 1 लाख से अधिक लोगों को नि:शुल्क प्राथमिक स्वास्थ्य एवं परामर्श
राजसमंद, चेतना भाट। ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने के लिए स्माइल ऑन व्हील्स वरदान साबित हो रही है। अक्टूबर 2018 से यह परियोजना हिन्दुस्तान जिंक द्वारा स्माइल फाउंडेशन के सहयोग से प्रारम्भ की गई, जिसे ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवा के लिए संजीवनी वाहिनी माना जाता है। विगत दो वर्षों से जारी नि:शुल्क स्वास्थ्य सेवा का एकमात्र उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र में जहां दूर दराज तक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध नही है वहां किस प्रकार लोगो को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक एवं निदान करने के लिए सहायता दी जा सके। यह परियोजना हिन्दुस्तान जिंक की तीन इकाईयों उदयपुर में जावर माइंस, भीलवाड़ा जिलें में रामपुरा आगूचा माइंस एवं चित्तौडगढ़ में चन्देरिया लेड जिंक स्मेल्टर के आस पास के 83 गांव के लोगों के लिए संचालित की जा रही है जिससे उपलब्ध प्राथमिक चिकित्सा सेवा ने लोगों स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता एवं परामर्श और रोगोपचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी हैं। कोरोना काल में भी स्माइल ऑन व्हील्स ने पूरी सावधानी एवं सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार लोगों को जागरूक करने के साथ ही स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई। भीषण गर्मी और उमस भरे दिनों में मेडिकल स्टाफ का पीपीइ किट पहनकर लोगों एवं स्वयं की सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए अनवरत सेवाएं प्रदान करना एक बहुत बड़ी चुनौती रही। फरवरी 2020 में पूरे माह राजकीय विद्यालयों में कोरोना संक्रमण पर सघन जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये गए। विगत दो वर्षों में स्माइल ऑन व्हील्स के द्वारा लगभग 3 हजार 70 परामर्श ओपीडी आयोजित किए गए जिसमें लगभग 97 हजार 6 सरै 62 लोगों ने स्वास्थ्य जाँच करा प्राथमिक स्वास्थ्य का लाभ लिया। इस दौरान लगभग 18.69 प्रतिशत बच्चों, 42.96 प्रतिशत महिलाओं, 38.34 प्रतिशत पुरुषों को स्वास्थ्य लाभ प्रदान किया गया। स्माइल ऑन व्हील्स स्वास्थ्य टीम द्वारा ओपी डी के अतिरिक्त निरन्तर पॉइंट ऑफ केयर टेस्ट-रैपिड टेस्टए एवं रेफरल सेवा के साथ ही गर्भवती माताओं की जाँच सुनिश्चित की जा रही है एवं आवश्यकता अनुसार आशा एवं ए एन एम के माध्यम से समुचित स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराई जा रही है। विगत दो वर्षो में टीम द्वारा लगभग 3693 पोइंट ऑफ केयर टेस्ट किये गए एवं आवश्यकता अनुसार दवा एवं परामर्श दिया गया साथ ही लगभग 1 हजार 1 सौ 13 मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य जाँच एवं सुविधा के लिए रेफर भी किया गया। रेफर किए गए सभी मरीजों को बेहतर तरीके से सामुदायिक कार्यकर्ता द्वारा ट्रैक किया जाता है तथा समय समय पर काउंसलिंग की जाती है। इस अवधि में 992 गर्भवती माताओं की स्वास्थ्य जाँच सुनिश्चित करते हुए उन्हें आयरन एवं कैल्शियम की खुराक के साथ पोषण सलाह भी प्रदान की गयी।

जिला स्तरीय सीनियर कुश्ती चयन प्रतियोगिता रविवार को

राजसमंद। जिला कुश्ती संघ ओलम्पिक पद्धति की ओर से रविवार को दोपहर 2 बजे नये अखाड़े कांकरोली पर जिला स्तरीय सीनियर कुश्ती चयन आयोजित होगी। कुश्ती संघ अध्यक्ष अमित बोल्या ने बताया कि जिनका जन्म 2003 से पहले हुआ है वो प्रतियोगिता में भाग ले सकता है। संघ सचिव धर्मेन्द्र गुर्जर ने बताया कि पुरुष वर्ग की फ्री स्टाईल में 57, 61, 65, 70, 74, 79, 86, 92, 97 व 125 किग्रा, जबकि महिला वर्ग में 50, 53, 55, 57, 59, 62, 65, 68, 72 व 76 किग्रा की प्रतियोगिता होगी। चयनित पहलवान जयपुर में आयोजित राज्यस्तरीय पुरुष फ्री स्टाईल और महिला कुश्ती प्रतियोगिता में भाग लेंगे। संयुक्त सचिव लीलाधर पालीवाल ने बताया कि चयन के लिए पहलवान जन्म प्रमाण-पत्र एवं आधार कार्ड अपने साथ लाना होगा। पहलवानों का वजन रविवार को नये अखाड़े पर दोपहर एक बजे लिया जाएगा।