नाथद्वारा से दरियाव सिंह
नाथद्वारा। उपखंड अधिकारी को 12 सूत्रीय मांग पत्र सौंपकर हिंदु संगठनों के कार्यकर्ताओं ने गोमाता के संरक्षण व संवर्धन के लिए प्राप्त सरचार्ज की राशि को अन्यत्र खर्च नहीं करने की मांग की। जिला धर्माचार्य गोपाल जोशी ने बताया कि राजस्थान सरकार ने स्टाम्प विक्रय व शराब बिक्री से प्राप्त गो संरक्षण सरचार्ज को अधिनियम में संशोधन कर आपदा प्रबंधन में उपयोग करने का जो निर्णय लिया है इसके विरोध में ज्ञापन दिया गया।

साथ ही सभी पंजीकृत गौशाला को अनुदान देने व प्रति गोमाता 180 दिन की बजाय 365 दिन अनुदान देने की मांग की गई। इसके अलावा पेट्रोलियम उत्पादों पर भी लगे सरचार्ज का एक हिस्सा यदि गौशाला व गोधन पर खर्च किया जाए तो बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे। सरकार यदि अधिनियम में किए संशोधन को वापस नहीं करती है तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। गोवंश संरक्षण संघर्ष समिति के तत्वावधान में उपखंड कार्यालय पहुंच वीएचपी व बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन देने से पूर्व उपखंड कार्यालय पर सांकेतिक धरना प्रदर्शन भी किया। इस दौरान उन्होंने गोमाता व भारतमाता के नारे लगाए।


इस दौरान संत शिवानंद, सुरेशानंद, नागेश्वर के साथ जिला सहमंत्री मुकेश जोशी, बजरंग दल संयोजक श्यामसुंदर सोनी, प्रखंड मंत्री गोविंद प्रजापत, नगर मंत्री विमल ईनाणी, गोरक्षा प्रमुख धनराज मीणा, मोहित श्रीमाली आदि मौजूद थे।