राजसमंद, चेतना भाट। देश का किसान स्वतंत्र हो, सशक्त हो, खुशहाल हो इसके लिए मोदी सरकार प्रतिबद्ध है। किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा निरंतर प्रयास किए जा रहे है। लेकिन चिंता की बात यह है कि विपक्ष की पार्टियां प्रमुख रूप से कांग्रेस जिन्होंने सदैव किसानों को ठगा ही है, धोखा ही दिया है। किसानों के लिए कभी भी कुछ भला नहीं किया बस किसान आंदोलन को हवा दे रहे है।
यह विचार चित्तौडग़ढ़ सांसद सीपी जोशी ने बुधवार को यहां जिला कार्यालय में कृषि कानून को लेकर आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल ने 4 दिसम्बर 2012 को संसद में बोला था कि कृषि बाजार को खोला जाएं, वही कांग्रेस आज विरोध कर रही है। कांग्रेस पार्टी के घोषणा पत्र के पेज नम्बर 18 में स्पष्ट लिखा गया है कि आवश्यक वस्तु अधिनियम को समाप्त करेंगे, वो आज विरोध कर रही है। उन्होंने कहा कि कृषि सुधार एक्ट से किसानों के जीवन में आमूलचूल परिवर्तन आयेगा, कांग्रेस अपने निजी स्वार्थ के लिए उसका विरोध कर रही है। हम उनकी निंदा करते है। कांग्रेस शासन में स्वयं राजीव गांधी बोलते थे कि 15 प्रतिशत ही पैसा पहुंचता है एवं 85 प्रतिशत पैसा गायब हो जाता है। लेकिन यहां मोदी सरकार 100 प्रतिशत पैसा किसानों के खाते में पहुंच रही है। सवाल के जवाब में सीपी जोशी ने कहा कि किसान आंदोलन के बारे में मोदी सरकार खुले मन से बात कर रही है। 6 बार किसानों से चर्चा हुई है और कहा गया है कि अपने सुझाव दीजिए, सुझाव एवं वार्तालाप हो रही है। हमें उम्मीद है कि शीघ्र ही समाधान निकलेगा। इस अवसर पर पूर्व विधायक बंशीलाल खटीक, भाजपा जिला उपाध्यक्ष संगीता कुंवर चौहान, महामंत्री सुनील जोशी, महेंद्र कोठारी, जिला मंत्री महेंद्रसिंह चौहान, कार्यालय प्रभारी प्रमोद गौड़, मंडल अध्यक्ष सुभाष पालीवाल, युवा मोर्चा अध्यक्ष जगदीश पालीवाल, कोषाध्यक्ष मानसिंह बारहठ, पूर्व चेयरमैन अशोक रांका, भाजपा नेगर अध्यक्ष सुभाष पालीवाल, नर्बदाशंकर पालीवाल, उप प्रधान सुरेश कुमावत सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे।