वन विभाग की टीम पह्रुंची मौके पर
कुंवारिया। समीपवर्ती गलवा ग्राम पंचायत के देवली गांव में गुरूवार की दोपहर को खेतों में गेहंू की फसल में सिंचाई का कार्य कर रही महिला पर एक पैंथर ने हमला करके घायल कर दिया। महिला के चिल्लाने की आवाज सुनकर सहायता के लिए मौके पर पहुंचे ग्रामीणों पर भी पैंथर ने हमला कर दिया। जिसमें एक व्यक्ति जख्मी हो गया। पूर्व उप सरपंच नरेंद्र सोनी ने बताया कि गुरुवार को दिन में देवली निवासी पुष्पा देवी कुमावत (35) व उसका पति उदयलाल कुमावत गांव के पीली खानिया कटर क्षैत्र में स्थित खेतो में गेहंू की सिंचाई का कार्य कर रहे थे। इसी बीच खेत में छुपे पेंथर ने वहां खड़ी महिला पर पीछे से हमला कर दिया। अचानक हमला होने से महिला पुष्पा देवी हडबड़ा गई तथा सहायता के लिए चिल्लाने लगी। इस पर पैंंथर गेहंू की फसल में ओझल हो गया। पेंथर के हमले की सूचना पर पूर्व उपसरपंच मांगीलाल पूर्बिया, प्यारचन्द्र कुमावत, लोभचन्द्र कुमावत, नाथुलाल कुमावत, रतन लाल कुमावत, रोशनलाल जाट, बंशीलाल कुमावत, किसनलाल कुमावत सहित भारी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। ग्रामीण खेत में ही पैंथर को ढूंढने का प्रयास कर ही रहे थे कि फसल में दुबक पर बैठे पैंथर ने अचानक नाथुलाल कुमावत पर झपट्टा मार दिया। हमले में पैंथर के पंजों के नाखूनों से नाथूलाल की कमर में गहरा घाव बन गया। पैंथर द्वारा दोबारा हमला करने से ग्रामीणों में भय व्याप्त हो गया। ग्रामीणों ने पेंथर के हमले में घायल महिला पुष्पा को कुंवारिया चिकित्सालय पहुंचा कर प्राथमिक उपचार कराया। हमले में महिला पुष्पा के हाथ व गर्दन पर गहरे घाव बन गए। ग्रामीणों की सुचना पर वन विभाग के वनपाल बिनोल वन नाका कमला शंकर वीरवाल, केटल गार्ड हिम्मत सिंह आदि कार्मिक मौके पर पहुंच कर घटना की जानकारी ली। ग्रामीणों ने आंतक का प्रयाय बने पैंथर को पकडऩे के लिए पिंजरा लगाने की वन विभाग से मांग की गई।