सैयद मुस्ताक अली चैम्पियनशिप में करेंगे प्रतिनिधित्व
चैलेंजर ट्रॉफी टूर्नामेंट में उम्दा प्रदर्शन पर हुआ चयन
राजसमंद, चेतना भाट। जिले के उभरते युवा क्रिकेट खिलाड़ी 100 फीट रोड़ निवासी 21 वर्षीय आदित्यसिंह राठौड़ का चयन सैयद मुस्ताक अली ट्रॉफी चैम्पियनशिप टी-20 के लिए राजस्थान की संभावित टीम में हुआ है। टूर्नामेंट को लेकर राठौड़ फिलहाल जयपुर में राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन (आरसीए) के शिविर में प्रशिक्षण ले रहे है। जिला क्रिकेट संघ सचिव गिरीराज सनाढ्य ने बताया कि आदित्यसिंह का चयन आरसीए की ओर से गत दिनों चैलेंजर ट्रॉफी क्रिकेट स्पद्र्धा में उनके उम्दा प्रदर्शन के आधार पर हुआ है। चयनित खिलाड़ी दिनों आरसीए के बैनर तले जयपुर में विशेष शिविर में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे है जो आगामी 30 दिसम्बर तक चलेगा तथा इसके बाद राजस्थान टीम की विधिवत घोषणा की जाएगी। सैयद मुस्ताक अली चैम्पियनशिप आगामी 10 जनवरी से इन्दौर में प्रस्तावित है जिसमें सभी राज्यों से टीमें शामिल होगी। उल्लेखनीय है कि इस ट्रॉफी के लिए जिले से पहली बार किसी खिलाड़ी को राजस्थान टीम में प्रतिनिधित्व मिल रहा है। यह जिले के लिए गौरव का विषय होगा। आदित्यसिंह पुत्र रघुवीरसिंह राठौड़ को बाल्यकाल से ही क्रिकेट में बेहद रूचि रही है तथा स्कूली शिक्षा के समय भी क्रिकेट स्पद्र्धाओं में हिस्सा लेते रहे है। आदित्य बीएन कॉलेज उदयपुर के विद्यार्थी है। 12वीं तक शिक्षा महाराणा मेवाड़ पब्लिक स्कूल उदयपुर से प्राप्त की। आदित्य के पिता रघुवीरसिंह राठौड़ ने बताया कि बचपन से ही आदित्य का सपना रहा कि वह अपने देश के लिए खेले तथा इसके लिए वह हमेशा प्रयत्नशील रहा है तथा इसी का नतीजा है कि आज यह अवसर मिल रहा है।

महिला स्वास्थ्य मार्गदशिकाओं की समीक्षा बैठक सम्पन्न


राजसमंद। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में संचालित मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सहित विभिन्न कार्यक्रमों एवं योजनाओं को लेकर महिला स्वास्थ्य मार्गदर्शिकाओं की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सीएमएचओ डॉ. प्रकाशचन्द्र शर्मा ने प्रत्येक मार्गदर्शिका को अपने सैक्टर के प्रति उपस्वास्थ्य केन्द्र दो गांव प्रतिमाह भ्रमण करने तथा वहां एएनएम द्वारा दी जा रही स्वास्थ्य सेवाओं के बारे में फिड बैक लेने तथा लाभार्थियों से मिलने के लिए निर्देशित किया। जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुरेश मीणा ने कोविड-19 वैक्सीन के बारे में विस्तार से जानकारी दी तथा कार्ययोजना तैयार करने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने अगामी 17 जनवरी को आयोजित होने वाले पल्स पोलियो अभियान के बारे में भी विस्तार से जानकारी देते हुए हाई रिस्क एरिया, ईंट भट्टों, घुमंतु परिवारों, निर्माणाधीन ईमारतों, खनन प्रसंस्करण ईकाईयों को पुन: चिन्हित करने के निर्देश दिए। साथ ही गर्भवती महिलाओं के शत प्रतिशत शीघ्र पंजीयन, प्रसव पूर्व जांच, संस्थागत प्रसव, मातृ मृत्यु समीक्षा, शिशु मृत्यु समीक्षा को विस्तार से स्वास्थ्य मार्गदशिकाओं से सैक्टर वार चर्चा की तथा शत प्रतिशत उपलब्धि के लिए निर्देशित किया। इस अवसर पर समस्त सीएचसी एवं पीएचसी पर कार्यरत मार्गदर्शिकाएं उपस्थित थी।