राजसमंद, चेतना भाट। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के निर्देशानुसार शुक्रवार को मोदी सरकार के तीन काले कानूनो को निरस्त कराने की मांग को लेकर जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर के नेतृत्व में पदाधिकारियों ने राष्ट्रपति के नाम जिला कलेक्टर अरविंद कुमार पोसवाल को ज्ञापन सौंपा। जिलाध्यक्ष देवकीनंदन गुर्जर ने बीजेपी की केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि देश के किसानों खेती मजदूरों मंडी के मजदूरों टांसपोर्ट कर्मचारियों सहित लाखो लोगों का रोजगार इन नए तीनो काले कानूनों द्वारा छिना जा रहा है तथा इन काले कानूनों से मंडिया खत्म होगी। मुी भर कंपनीया सामूहिक खरीद कर लूट पाट करेगी जिससे अनाज मंडिया खत्म हो जाएगी। पीसीसी सदस्य हरिसिंह राठौड़ ने कहा कि इस महामारी की आड़ में मोदी सरकार ने मुीभर पुंजिपतियो को और अवसर देने के लिए केंद्र सरकार उक्त तीनों काले कानून लागू कर अन्नदाता किसान मजदूरों का शोषण करने का प्रयास किया है।

पूर्व जिलाध्यक्ष नारायणसिंह भाटी ने कहा कि कोरोना महामारी में राहत देने के बजाय केंद्र सरकार द्वारा किसान विरोधी अधयादेश से किसानों की कमर तोड़ दी जिससे पूंजीवाद को बढ़ावा मिलेगा। जिसे जिला कांग्रेस कमेटी सिरे से खारिज करती है और राष्ट्रपति से इन काले कानूनों को निरस्त करने की मांग करती है। इस अवसर पर ब्लॉक अध्यक्ष शांतिलाल कोठारी, सुंदरलाल कुमावत, जिला महासचिव भगवतसिंह गुर्जर, महासचिव किशनलाल गाडरी, सचिव कुलदीप शर्मा, नगर अध्यक्ष बहादुरसिंह चारण, पूर्व सभापति आशा पालीवाल, नेता प्रतिपक्ष अशोक टांक सहित कई पदाधिकारी मौजूद थे।