नाकाबंदी तोडक़र फरार हुए आरोपी, फायरिंग में एक पुलिसकर्मी जख्मी
राजसमंद, चेतना भाट। चारभुजा थाना अंतर्गत शनिवार मध्य रात्रि 2:45 बजे गश्त के दौरान बिना नम्बर की दो सफेद रंग की स्कॉर्पियो पड़ासली से सीधे चारभुजा की तरफ आ रही थी। जहां पुलिस के वाहन को देख दोनों गाडिय़ां तेज रफ्तार से निकल गई। चारभुजा थाना प्रभारी टीना सोलंकी ने बताया कि रात्रि को हेड कांस्टेबल गोविंदसिंह व कांस्टेबल महेंद्रसिंह रात्रि को गश्त के दौरान दो स्कारपियो आती दिखाई दी जो तेज गति से निकल गई। पीछा करने पर वह देसूरी की तरफ निकल गई। गोविंद सिंह हेड कांस्टेबल ने देसूरी थाने पर सीआई को फोन कर तेज गती से आ रही गाड़ी के बारे में जानकारी दी। तुरंत देसूरी थाने द्वारा नाकाबंदी की गई। नाकाबंदी के दौरान दोनों स्कॉर्पियो वालों ने फायरिंग कर दी जिससे देसूरी थाने के सिपाही रणवीरसिंह के पैर में गोली लगी। जिसकी हालत गंभीर होने पर उसे उपचार के लिए जोधपुर रेफर किया गया। घटना के बाद दोनों स्कॉर्पियो गाडिय़ां मुडक़र पुन: चारभुजा की तरफ आ गई। जिसकी सूचना देसुरी पुलिस ने चारभुजा थाने में दी। सूचना के बाद चारभुजा थाने से एएसआई प्रतापसिंह, हेड कांस्टेबल गोविंदसिंह, रामकरण, महेंद्र सिंह की मौजूदगी में मानवतो का गुड़ा स्थित चौकी पर जाब्ता तैनात किया गया। उसी दौरान देसूरी की नाल से दो स्कॉर्पियो आई जो दो राउंड फायर करते हुए भीलवाड़ा टोल नाका तोड़ते हुए फरार हो गए। फायरींग में एक गोली हेड़ कांस्टेबल रामकरण के पास होकर निकल गई तथा दूसरी गोली पुलिस की गाड़ी के टायर पर लगी। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच प्रारंभ कर दी गई है। इस मामले की जांच केलवाड़ा थाना अधिकारी शैतान सिंह नाथावत कर रहे हैं।