पहली बार जिले में आगमन पर जगह-जगह किया स्वागत
राजसमंद, चेतना भाट। एनएसयूआई प्रदेशाध्यक्ष अभिषेक चौधरी की जन आशीर्वाद यात्रा मंगलवार को राजसमंद पहुंची। प्रदेशाध्यक्ष बनने के बाद चौधरी के प्रथम बार राजसंमद आगमन पर कार्यकर्ताओं की ओर से स्वागत किया गया। सर्वप्रथम चौधरी का कार्यकर्ताओं ने भीम में स्वागत किया वहां से कामलीघाट चौराहा, गोमती, केलवा होते हुए जिला मुख्यालय के तुलसी साधना शिखर तक वाहन रैली के रूप में लाया गया। रास्ते में कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों ने इकलइ, साफा व मेवाड़ी पगड़ी, फूल-मालाओं से एवं आतिशबाजी कर स्वागत किया। सभा को संबोधित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष अभिषेक चौधरी ने एनएसयूआई कार्यकर्ताओं को कांग्रेस की दो वर्ष की उपलब्धियो के बारे में बताया। साथ ही सरकार द्वारा युवाओं को विभिन्न अवसर देने की योजनाओं के बारे जानकारी दते हुए कहां कि आगामी राजसंमद नगर परिषद क्षेत्र के निकाय चुनाव में युवाओं को मौका दिया जाएगा। आने वाले निकाय चुनाव में पूरी ऊर्जा के साथ मेहनत कर कांग्रेस का बोर्ड बनाए, जिससे कांग्रेस पार्टी के हाथ मजबूत हो। कार्यक्रम को कांग्रेस जिला महासचिव भगवतसिंह गुर्जर, युवा नेता अजय गुर्जर, जिला सचिव कुलदीप शर्मा, समाजसेवी महेशप्रताप सिंह लखावत, शहर अध्यक्ष बहादुरसिंह चारण, युकां जिलाध्यक्ष गौरव आचार्य, एनएसयूआई जिलाध्यक्ष अजयसिंह सोलंकी, उपाध्यक्ष आंनदसिंह चौहान, एसआरके कॉलेज छात्रसंघ अध्यक्ष मुकेश नायक, कुंदन पालीवाल, पूर्व जिलाध्यक्ष विकास सोनी ने भी सभा को संबोधित किया। इस अवसर पर भीलवाड़ा जिलाध्यक्ष आशीष चौधरी, साहिब हसन, निकिता कुमारी, विनोद जोशी, मनोज बुनकर,आशीष पालीवाल, निखिल पालीवाल, प्रतीक सनाढ्य, अब्दुल रहमान, गनी संधी, सानिया गुप्ता, किरण खटीक, तेजशकर पालीवाल, अंकित तिवारी, प्रितेश गोरवा सहित कई कार्यकर्ता व पदाधिकारी उपस्थित थे। संचालन डालचंद कुमावत ने किया।

डागा को मिली पीएचडी की उपाधी


राजसमंद। श्रीनाथजी इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलोजी एण्ड इंजिनियरिंग कॉलेज के एसोसिएट प्रोफसर व टीपीओं के पद पर कार्यरत आशुतोष डागा को मोहनलाल सुखाडिया विश्व विद्यालय के वाणिज्य फैकल्टी की ओर से डागा द्वारा किए गए शौध कार्य पर पीएचडी की उपाधी प्रदान की गई। विश्व विद्यालय के व्यवसाय प्रबंधन विभाग के प्रोफेसर बीएल वर्मा के निर्देशन में डागा ने दक्षिणी राजस्थान में हिन्दुस्तान युनिलीवर लिमिटेड और प्रोक्टर एण्ड गेम्बल के ग्रामीण विपयान रणनीतियों का तुलनात्मक अध्ययन विषय में अपना शौध कार्य पूरा किया।