राजसमंद, चेतना भाट। नगर परिषद आयुक्त जनार्दन शर्मा ने शनिवार रात को नगर परिषद दीनदयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के अंतर्गत संचालित आश्रय स्थल एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित इंदिरा रसोई केंटीन का निरीक्षण किया। सीएम अशोक गहलोत के संकल्प कोई भी भूखा न सोएं के तहत प्रारम्भ की गई इंदिरा रसोई योजना का निरीक्षण किया। आरके जिला चिकित्सालय, द्वारकेश सब्जी मंडी एवं राजनगर रोडवेज बस स्टेण्ड पर इंदिरा रसोई कैंटिन का संचालन किया जा रहा है। स्वायत शासन विभाग जयपुर के निर्देशों की पालना में नपा आयुक्त ने रात को भीलवाड़ा रोड़ स्थित आश्रय स्थल का निरीक्षण किया। जहां आश्रय स्थल संचालन की गाइड लाइन के अनुरूप पाई गई। आश्रय स्थल की 48 व्यक्तियों की क्षमता के अनुरूप साफ सुथरे बिस्तर, पलंग, पीने के लिए स्वच्छ पेयजल, मास्क एवं सेनेटाइजर उपलब्ध है। निरीक्षण के दौरान आश्रय स्थल पर रह रहे व्यक्तियों से एवं इंदिरा रसोई कैंटिन पर भोजन कर रहे लाभार्थियों से उपलब्ध सुविधाओं के बारे में चर्चा की जिसे उन्होंने बेहतरीन बताया। निरीक्षण के दौरान जिला मिशन प्रबन्धक अशोक त्रिपाठी, सुनील यादव उपस्थित थे। नगर परिषद द्वारा नपा क्षेत्र में दो आश्रय स्थलों का संचालन किया जा रहा है। जिसमें भीलवाड़ा रोड़ कांकरोली एवं बस स्टेण्ड धोइंदा के पास का संचालन किया जा रहा है। जहां पर सभी आवश्यक सुविधाएं जिसमें महिलाओं एवं पुरुषों के लिए पृथक कक्ष, गर्म पानी, हीटर, मनोरंजन के लिए टेलीविजन सहित साफ बिस्तर उपलब्ध है। आयुक्त शर्मा ने बताया कि कोई भी आश्रय विहीन व्यक्ति अपनी पहचान के लिये कोई भी प्रमाण पत्र दिखा कर वहां रह सकता है। शर्मा ने इंदिरा रसोई केंटीन में लाभार्थियों की संख्या की बढ़ोतरी के लिये व्यापक जन सम्पर्क एवं प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिये व आम नागरिकों को से भी अपील की है कि कोई भी निराश्रित व्यक्ति अगर मिले तो उसे आश्रय स्थल पर भेजे।