राजसमंद, चेतना भाट। जब आप अधिकारी बन जाओ तो अपने कार्यालय के दरवाजे सभी के लिए हमेशा खुले रखे एवं आम आदमी से जुडक़र रहे। जहां भी आप रहो लोगों के लिए इतना काम करो कि जब आप वहां से स्थानान्तरित हो तो लोग आपके काम को याद रखे। अपने सहकर्मियों को सदैव सम्मान दें, कभी किसी भी सहकर्मी को अपने सामने खड़े नहीं रखे व उनके अनुभव और ज्ञान का उपयोग लोगो की भलाई के लिए करें। प्रशासन में रहते हुए लोगों के साथी बनकर जीवन में बदलाव लाएं। यह विचार मजदूर किसान शक्ति संगठन की संस्थापिका और पूर्व आईएएस अधिकारी अरुणा राय ने विजय भव योजना से जुडक़र आरएएस के लिए साक्षात्कार की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों के साथ आयोजित ऑनलाइन वेबिनार में कही। जिला परिषद एसीईओ डॉ. दिनेश राय सापेला द्वारा शुरू की गई विजयी भव योजना में अब तक आरएएस अभ्यर्थियों को कई अधिकारी अपना अंतिम रणनीतिक आशीर्वचन प्रदान कर चुके है।

इन अधिकारियों ने दिया आशीर्वचन


विजय भवन योजना के तहत साक्षात्कार की तैयार कर रहे अभ्यर्थियों को डॉ. प्रियंका रघुवंशी आरपीएस ने साक्षात्कार की सम्पूर्ण तैयारी कैसे करें के अलावा पुलिस विभाग व पदों से जुड़े प्रश्नों का समाधान एवं अभ्यर्थियों को सम्पूर्ण रणनीतिक आशीर्वचन प्रदान किया। इसी प्रकार राजेन्द्र पेंसिया (आईएएस), शिक्षा विभाग निदेशक सौरभ स्वामी (आईएएस), आईएएस टॉपर टीना डाबी, द्वितीय रैंक आईएएस अतहर आमिर उल शेफी खान 2012 आरएएस टॉपर राधिका, प्रथम रैंक आएएस टॉपर भवानीसिंह सहित एसएस बिसा आईएएस, जीएल शर्मा आरएएस, एस के सौलंकी सेवानिवृत्त आईएएस की ओर से आरएएस अभ्यर्थियों की सफलता के लिए अंतिम रणनीतिक आशीर्वचन प्रदान किए। वहीं एमएलएसयू पूर्व प्रोफेसर व डीन व वीएमओयू क्षेत्रीय निदेशक अरूण चतुर्वेदी ने राजनीति विज्ञान व प्रशासन से जुड़े समस्त प्रश्नों का रणनीतिक उतर दिए गए एवं राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर भूतपूर्व अध्यक्ष बीएम शर्मा द्वारा आरएएस साक्षात्कारकी तैयारी कैसे करें पर सम्पूर्ण रणनीति पर विस्तृत व्याख्यान दिया गया।

बालिका ने बनाया विजयी भव योजना का लोगो


रविवार को विश्व बालिका दिवस पर एक नन्ही बालिका द्वारा विजय भव योजना का लोगो बनाया गया है। जिसे योजना से जुड़े अभ्यर्थियों एवं लोगों द्वारा काफी सराहा गया है। यह लोगो प्रेरणास्पद तो है ही लेकिन नन्ही बालिका की इस उम्र में सकारात्मक सोच को भी दर्शाता है।