आशा समीक्षा बैठक का आयोजन
राजसमन्द/आमेट। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग प्रत्येक आयु के लोगो को स्वास्थ्य सेवाए मुहैया करवाता है। यह हम सभी की जिम्मेदारी है कि हम आमजन को सजग करे तथा उन्हे स्वास्थ्य सेवाएं लेने के लिये प्रेरित करें। यह निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रकाश चन्द्र शर्मा ने आमेट पंचायत समिति में आयोजित आशा सहयोगिनीयों की समीक्षा बैठक में दिए। बैठक में सीएमएचओं डॉ शर्मा ने कहा कि मोबाईल आधारित एप्लीकेशन लिसा के माध्यम से ही घर-घर स्वास्थ्य सर्वे किया जाए, जिससे सर्वे की वस्तुस्थिती का तत्काल पता लग सकें। बैठक में पल्स पोलिया अभियान के तहत बूथ कवरेज बढ़ाने के लिए बच्चो को मोबिलाईज कर बूथ तक लाने तथा अभियान की शत प्रतिशत सफलता सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया। बैठक में विभागीय विभिन्न राष्ट्रीय कार्यक्रम टीबी उन्मुलन, अंधता निवारण, मौसमी बिमारियों की रोकथाम के साथ ही मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं के तहत गर्भवती महिलाओं के शिघ्र पंजीयन, प्रसव पूर्व जांच, हाईरिस्क प्रेेगनेन्सी वाली महिलाओं की सूचना एवं फॉलोअप, संस्थागत प्रसव, प्रसव पश्चात जांच, नवजात शिशु एवं प्रसुता की घरेलु देखभाल सेवाएं जैसे कई कार्यक्रम पर विस्तार से गांव वार समीक्षा की गई। परिवार कल्याण कार्यक्रम के तहत उन्होंने मुख्यत: पुरूषो की भागीदारी पर जोर दिया तथा पुरूष नसबंदी के लिए योग्य दम्पत्तियो को प्रेरित करने के लिए निर्देशित किया। बैठक में खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सीपी सूर्या, ख्ंाड कार्यक्रम प्रबंधक सरीता जैन सहित अन्य कर्मचारी मौजूद थे।

अणुविभा ने मनाया 39वां स्थापना दिवस

राजसमंद। अहिंसा एवं शांति की संस्कृति के विकास में सतत 38 वर्षों से कार्यरत अणुव्रत विश्व भारती का 39वां स्थापना दिवस समारोह संस्था के पदाधिकारी जगजीवन चोरडिय़ा, गणेश कच्छारा एवं लक्ष्मण जैन की उपस्थिति में आयोजित हुआ। जगजीवन चोरडिय़ा ने संस्थापक मोहनभाई को याद करते हुए कहा कि नैतिक मूल्यों के विकास और संयमित जीवनशैली के प्रसार के लिए अणुव्रत दर्शन की आवश्यकता आज पूरे विश्व को है। बच्चों के लिए समर्पित राजसमंद के इस केंद्र की उपयोगिता अब व्यापक स्तर पर अनुभव की जा रही है। लक्ष्मण जैन ने अणुविभा द्वारा बाल विकास के क्षेत्र में चलाए जा रहे विभिन्न उपक्रमों को शिक्षा जगत के लिए अनुकरणीय बताया। उन्होंने कहा कि अणुविभा अणुव्रत समितियों के माध्यम से पूरे देश में जीवन विज्ञान सहित बाल विकास के अनेक कार्यक्रमों का संचालन करेगी। अणुविभा का यह केंद्र अणुव्रत शैक्षिक मोड्यूल का रोल मॉडल बन रहा है। देवेन्द्र आचार्य ने कहा कि अणुविभा के विस्तार से कार्यकर्ताओं में उत्साह है। अणुविभा के प्रबंधक महेन्द्र गुर्जर ने आभार व्यक्त करते हुए बालोदय दीर्घाओं में चल रहे नवीनीकरण व साज-सज्जा कार्य के बारे में बताया।