सीएमएचओ ने चिकित्सा संस्थानो के किया औचक निरीक्षण
राजसमंद, चेतना भाट। परिवार नियोजन में पुरूषो की भागीदारी बढ़ाने के लिए चिकित्सा विभाग की ओर से पुरूष नसबंदी पखवाड़े का आयोजन दो चरणो में किया जाएगा। जिसमें मोबिलाइजेशन सप्ताह और सेवा वितरण सप्ताह में गतिविधियां आयोजित कर परिवार नियोजन पुरूषो की भागीदारी के लिये प्रेरित किया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रकाश चन्द्र शर्मा ने बताया की पखवाड़े के प्रथम चरण 21 से 27 नवम्बर तक मोबिलाईजेशन सप्ताह मनाया जाएगा। जिसके तहत आशा सहयोगिनी, स्वास्थ्य कार्यकर्ता गांव, ढांणी कस्बों में योग्य दम्पत्तियों से संपर्क कर परिवार नियोजन में पुरूषो की भागीदारी बढ़ाने के लिए परिवार नियोजन के उपलब्ध साधनों की जानकारी, सीमित परिवार के लाभ, विवाह की सही आयु, विवाह के पश्चात कम से कम दो वर्ष बाद बच्चे की तैयारी, पहले एवं दूसरे बच्चे में कम से कम 3 साल का अंतर, प्रसव के बाद परिवार कल्याण सेवाओं की उपलब्धता की जानकारी, गर्भपात पश्चात परिवार कल्याण सेवाओं की उपलब्धता की जानकारी देंगे। पखवाड़े के तहत गांवो में सास-बहु सम्मेलन भी आयोजित किए जायेंगे तथा वहां पुरूष नसबंदी पर विशेष चर्चा की जाएगी। अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी परिवार कल्याण डॉ पंकज गौड़ ने बताया की 28 नवम्बर से 4 दिसम्बर 2020 तक सेवा वितरण सप्ताह आयोजित किया जाएगा। जिसके तहत राजकीय चिकित्सा संस्थानो पर नसबंदी सेवाएं प्रदान करने लिए कार्य योजना तैयार कर सभी चिकित्सा अधिकारियों एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं तक पहुंचाई गई है।

कार्यक्रम की विस्तृत समीक्षा के लिए ली वीसी

जिला स्तर से पखवाड़े की सफलता एवं परिवार कल्याण कार्यक्रम की विस्तृत समीक्षा के लिए विडियों कॉन्फ्रेंस भी आयोजित की गई। जिसमें जिले के खंड मुख्य चिकित्सा अधिकारी, खंड कार्यक्रम प्रबंधक, चिकित्सा अधिकारी प्रभारियों ने भाग लिया। अतिरिक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पंकज गौड़ ने विडियों कॉन्फ्रेंस में निर्देशित किया की स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं से मोबाईल एप्लीकेशन पर गर्भनिरोधक इंजेक्शन अंतरा एवं अन्य परिवार कल्याण सामग्री का सामग्री का इन्द्राज करावें तथा कार्यक्रम में भौतिक प्रगति के साथ ही वित्तीय प्रगति भी सुनिश्चित करें।

सीएमएचओं ने चिकित्सा संस्थानो के किया औचक निरीक्षण

सीएमएचओ डॉ प्रकाशचन्द्र शर्मा ने खमनोर ब्लॉक के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र कोठारिया एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सालोर चिकित्सा संस्थान के खुलने के समय पर ही पहुंच गए। जहां उन्होंने संस्थानों का औचक निरीक्षण किया तथा आमजन को दी जा रही स्वास्थ्य सेवाओं का अवलोकन किया। उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों एवं स्टॉफ के उपस्थिती रजिस्टर का अवलोकन किया तथा चिकित्सा अधिकारीयो एवं कार्मिको समय पर चिकित्सा संस्थान शुरू करने तथा चिकित्सा संस्थान में नियमित साफ-सफाई बनाए रखनें तथा मरीजो की सुविधाओं का पुरा ध्यान रखने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने चिकित्सा संस्थानो में चिकित्सा अधिकारी प्रभारीयो से मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना, मुख्यमंत्री नि:शुल्क जांच योजना, जननी सुरक्षा योजना, बायोवेस्ट निस्तारण, टीकाकरणए गैर संक्रामक रोगो एवं संक्रामक रोगो की रोकथाम के लिए किये जा रहे उपायो पर विस्तार से चर्चा की तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिए।