नवज्योति, खमनोर। अक्षय पात्र फाउंडेशन की ओर से गांधी जयंती पर दो हजार नि: शुल्क मास्क विरतण कर लोगों को कोरोना के लडऩे के लिए मास्क का उपयोग करने को लेकर जागरूक किया। संस्था के प्रबंधक राहुल कुमार झा ने शुक्रवार को खमनोर और देलवाड़ा क्षेत्रों में बिना मास्क घूमने वाले व्यक्तियों को मास्क देकर उनको लगातार मास्क लगाने के लिए पाबन्ध किया गया। इस दौरान अक्षय पात्र से मुकेश कुमार बैरवा, महावीर जैन, रवि चरण, शंभू सिंह, दीपक पालीवाल आदि ने कोविड-19 से बचाव की जानकारी प्रदान की। इसी प्रकार नाथद्वारा बस स्टेण्ड, सब्जी मंडी, लालबाग सहित कांकरोली सब्जी मंडी, मुखर्जी चौराहा, राजनगर बस स्टेण्ड, बजरंग चौराहा आदि क्षेत्रों में भी बिना मास्क घूमने वाले व्यक्तियों को मास्क कर दिए गए गए।
—————————————————————————-

कोरोना जागरूकता अभियान का शुभारंभ आज
प्रभारी मंत्री आंजना लेंगे भाग
राजसमंद। जिला प्रभारी मंत्री उदयलाल आंजना शनिवार को जिला स्तरीय कोरोना जागरूकता अभियान के तहत शुभारंभ कार्यक्रम में भाग लेंगे। जिला कलक्टर अरविन्द कुमार पोसवाल ने बताया कि प्रभारी मंत्री शनिवार को दोपहर एक बजे शुभारभ कार्यक्रम में भाग लेंगे व इसके पश्चात पत्रकारों के साथ प्रेस वार्ता करेंंगे।

फतेहपुरा ग्राम पंचायत के लिए 2 करोड़ 59 लाख स्वीकृत
खमनोर। ग्राम पंचायत फतेहपुर में विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी की पहल पर जल जीवन मिशन योजना के तहत ट्यूबवेल, नई पाइप लाइन व सडक़ निर्माण और डामरीकरण के लिए 2 करोड़ 59 लाख की स्वीकृत किए है। ग्राम पंचायत फतेहपुर में पानी की किल्लत से जूझ रहे लोगों को इस योजना में बड़ी राहत मिलेगी। डॉ. जोशी ने वर्चुवल मीटिंग लेकर ग्राम पंचायत के लोगों से सुझाव लिए गए। गावों में पेयजल की समस्याओं को देखते हुए उन्होंने जल जीवन मिशन के अंतर्गत विधानसभा क्षेत्र के ग्राम पंचायत फतेहपुर में 2 करोड़ 59 लाख 72 हजार करोड़ रुपए स्वीकृत किए एवं 1 करोड़ 57 लाख 49 हजार रुपए कामा-चारणों की मंदार क्षेत्र में ट्यूबवेल लगवाने के लिए स्वीकृत किए। इसी तरह सडक़ निर्माण, डामरीकरण हेतु फतेहपुर से बिल्ली की भागल रोड के लिए 1 करोड़ 50 लाख रुपये की स्वीकृति दी गई। सरपंच जगन्नाथ प्रसाद डागलिया ने बताया कि ग्राम पंचायत फतेहपुरा में डॉ. सीपी जोशी की पहले से बड़ी योजनाओं की स्वीकृति मिली है। ग्राम वासियों ने विधानसभा अध्यक्ष डॉ. जोशी का आभार व्यक्त किया।

खटीक समाज तृतीय ऑनलाइन टेस्ट सीरिज कल, तैयारियां पूरी
राजसमंद। अपना मित्र परिषद खटीक समाज राष्ट्रीय मुख्यालय भीलवाड़ा की ओर से 4 अक्टूबर को देश भर में तृतीय ऑनलाइन प्रतियोगिता (टेस्ट सीरिज) का आयोजन किया जाएगा। जिसमें हजारों विद्यार्थी परीक्षा देंगे। विजेता परीक्षार्थियों को ब्लॉक, जिला और राष्ट्रीय स्तर पर भी सम्मानित किया जाएगा। एएमपी के संस्थापक एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष सुभाष खोईवाल, राष्ट्रीय संरक्षक अमृतलाल व सत्यप्रकाश खोईवाल तथा राष्ट्रीय संयोजक रोशनलाल सामरिया ने ऑनलाइन की परीक्षा की तैयारियों की जानकारी ली। मीडिया प्रभारी प्रकाश पालीवाल बोली वालने बताया कि परीक्षा का लिंक परिषद की वेबसाइट पर 4 अक्टूबर को सुबह 9ण्45 बजे ओपन होगा। परीक्षा में अधिक से अधिक विद्यार्थियों की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए एएमपी पदाधिकारी जिलाध्यक्ष भेरूलाल चंदेल, नेमीचंद. जसवंत लाल. कन्हैयालाल. तेजपाल चावला, प्रकाशचंद्र खटीक, धर्मेश खटीक, पीरु खींची, देवनारायण खींची, ललित खींची, आदि सोशल मीडिया के जरिए अभिभावकों के साथ ही विद्यार्थियों से सम्पर्क में जुटे हुए है।

किसान कल्याण संपर्क अभियान संयोजकों की घोषणा
राजसमंद। भाजपा जिलाध्यक्ष वीरेंद्र पुरोहित की अनुशंषा पर कृषि कानूनों को लेकर किसान कल्याण संपर्क अभियान के जिला संयोजक व भाजपा जिला मंत्री रामलाल जाट ने मंडल स्तर पर मंडल संयोजक व मंडल सह संयोजक की घोषणा की। मीडिया प्रवक्ता अरविंदसिंह भाटी ने बताया कि देलवाड़ा मंडल से संयोजक हरेंद्रसिंह झाला व सह संयोजक जगदीश चंद्र, कोठारिया से अशोक वैष्णव व वैभवराज सिंह, खमनोर मंडल से ख्यालीलाल व शंकरलाल नागदा, नाथद्वारा नगर से हर्षवर्धन माली व मुकेश त्रिपाठी, रेलमगरा से भरत जाट व मदन गाडरी, कुरज से प्रकाश खेरोदिया व अनिल चौधरी, मीरा मंडल से रामलाल गाडरी व जवाहरलाल जाट, राजसमन्द नगर से राजकुमार अग्रवाल व खुशकमल कुमावत, प्रताप मंडल से नानालाल तेली व श्यामलाल, राणाराज सिंह से किशन पालीवाल व विक्रमसिंह, केलवाड़ा से हरीश सेन तलादरी व भगवतसिंह कांकरवा, ओलदार से भेरूसिंह खरवड़ व शिवसिंह, चारभुजा से देवीसिंह राव, आमेट नगर से सोहनलाल बागवान, आमेट ग्रामीण से गणपतसिंह चारण व देवेंद्र सिंह, सरदारगढ़ से बद्रीलाल जाट व नारायण प्रजापत, भीम से लक्ष्मणसिंह नाबरी व धन्न सिंह, दिवेर से लक्ष्मणसिंह टाइगर व कालू सिंह, देवगढ़ ग्रामीण से चंद्रभानसिंह व देवीलाल सेन, देवगढ़ नगर से गोविंद कंसारा व नारायणलाल गुर्जर, सांगावास से ईश्वरदास व गिरधारी पूरी, डूंगरखेड़ा से किशनसिंह व राजूसिंह तथा कुकरखेड़ा मंडल से संयोजक किशनसिंह व सह संयोजक ललितसिंह को संयोजक नियुक्त किया गया।

नवीन कृषि कानून से किसानों की आयी में वृद्धि होगी : चौहान
राजसमंद। भाटोली ग्राम पंचायत में भाजपा कार्यकर्ताओं व किसानों तथा ग्रामीणों की बैठक लेते हुए निवर्तमान पंचायत समिति सदस्य संपतनाथ सिंह चौहान ने नवीन कृषि कानूनों के विषय पर संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के कृषि कानून किसानों के कल्याण में क्रांतिकारी साबित होंगे। जिनसे किसान स्वंय ही कीमत तय कर अपनी फसल कहीं भी, कभी भी बेच सकता है। इस अवसर पर पूर्व उपसरपंच दयाशंकर देराश्री, इकाई अध्यक्ष फतेहलाल देराश्री, छगन देराश्री, मुकेश कीर, जगदीश तेली, सुमेरसिंह आशिया, कुलदीपसिंह चारण सहित कार्यकर्ताओं व किसानों ने प्रधानमंत्री, केंद्रीय कृषि मंत्री व सांसद दिया कुमारी को आभार पत्र प्रेषित किया।

टीबी की तलाश में स्वास्थ्य कार्यकर्ता घर-घर दस्तक देंगे, प्रशिक्षण सम्पन्न
राजसमंद। स्वास्थ्य विभाग की ओर से राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम (एनटीईपी) के तहत जिले में टीबी रोगियों की खोज के लिए 3 से 16 अक्टूबर तक विशेष अभियान चलाया जाएगा। जिसमें विभागीय टीमें घर-घर दस्तक देकर टीबी रोगी चिन्हित करेंगी। अभियान को सफल बनाने के लिए गत दिवस जिला स्तर से ब्लॉक स्तरीय कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया गया। इसके बाद स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा शनिवार से सर्वे का कार्य प्रारंभ किया जाएगा। संभावित टीबी रोगी की नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर जांच करवाई जाएगी। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. रामनिवास जाट ने बताया कि अभियान के तहत स्वास्थ्य कार्यकत्र्ता प्रत्येक सी टाइप गांव, ईंट-भट्ट, झुग्गी झोपड़ी, जेल व अन्य चिन्हित स्थानों में जाकर सर्वे करेंगे। प्रत्येक टीम में शामिल एक एएनएम व एक आशा प्रतिदिन कम से कम 250 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग सर्वे में किसी व्यक्ति को दो सप्ताह से अधिक खांसी, बुखार, भूख कम लगना, लगातार वजन में गिरावट, बलगम में खून आदि लक्षण पाए जाने पर उन्हें संभावित टीबी रोगी मानते हुए चिन्हित किया जाएगा। इसके बाद नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र में बलगम की जां, एक्सरे आदि जांच करवाई जाएंगी। टीबी रोग की पुष्टि होने पर उसका उपचार प्रारंभ किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम के तहत उपचार समस्त राजकीय चिकित्सा संस्थानों पर नि:शुल्क किया जा रहा है एवं दवा भी उपलब्ध है।

बांरा दुष्कर्म प्रकरण में गहलोत ने किया महिलाओं का अपमान : माहेश्वरी
राजसमंद। पूर्व मंत्री एवं विधायक किरण माहेश्वरी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने दुष्कर्म एवं शीलभंग जैसे संवेदनशील विषयों पर क्षुद्र राजनीति करके महिला शक्ति का अपमान किया है। बांरा दुष्कर्म प्रकरण में अशोक गहलोत का वक्तव्य आरोपियों को बचाने के प्रयास का प्रमाण है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपनी उर्जा और समय प्रधानमंत्री मोदी एवं उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी के विरुद्ध मिथ्या दोषारोपण एवं दुष्प्रचार में व्यर्थ नहीं करे। वे राजस्थान की विधि व्यवस्था एवं प्रभावी प्रशासन की चिंता करे। माहेश्वरी ने कहा कि बांसवाड़ा, भरतपुर, सिरोही, अजमेर, सीकर, जयपुर, अलवर, चुरु, टोंक, झालावाड़ आदि जिलों में विगत दिनो हुए दुष्कर्म की घटनाऐं समाचार पत्रों के मुखपृष्ठों की शीर्ष पंक्तियां बनी। इनमें कई अव्यस्क बालिकाए थी, तो कई दलित वर्ग से संबंधित थी। प्रदेश के कांग्रेसी मंत्री इन घटनाओं पर मौन क्यों है? कांग्रेस के सुल्तान एवं शहजादी राजस्थान का दुष्कर्म पर्यटन भी कर कैमरों में अपने चित्र खिंचवाए।
दुष्कर्म, गैंग रेप की वारदातों से प्रदेश शर्मसार
भाजपा जिला अध्यक्ष वीरेंद्र पुरोहित ने प्रदेश की बिगड़ी हुई कानून व्यवस्था को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधते हुये कहा कि राजस्थान जैसे शांतिप्रिय प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह पटरी से उतर चुकी है। बजरी माफियाओं का आतंक, लूट, हत्या के मामले तो बढ़ ही रहे हैं, इसके अलावा महिलाओं एवं बच्चियों के साथ छेड़छाड़, दुष्कर्म, गैंग रेप की वारदातें भी प्रदेश को कलंकित कर रही हैं। जिला मीडिया प्रवक्ता अरविंदसिंह भाटी ने बताया कि जिलाध्यक्ष ने यह बात जिले के प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक के दौरान वक्त किए। पुरोहित ने कहा कि हफ्तेभर के अंदर अलवर के तिजारा, सीकर, आमेर, सिरोही, अजमेर, बारां में दुष्कर्म व गैंग रेप की घिनौनी वादरातें हुईं, लेकिन प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं गृहमंत्री गहलोत पूरी तरह मौन हैं। कानून व्यवस्था एवं महिला सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं हैं, ना ही इन मामलों पर संज्ञान ले रहे हैं, ऐसे में पीडि़त लोग न्याय के लिये दर-दर भटक रहे हैं। कांग्रेस नेतृत्व पर निशाना साधते हुए पुरोहित ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी राजस्थान में महिलाओं एवं बच्चियों के साथ हुई वारदातों पर क्यों नहीं बोल रही हैं, क्या इन वारदातों से प्रदेश और समाज कलंकित नहीं हुआ है। क्या ये देश की बेटियां नहीं हैं? क्या आप यह मान बैठी हैं कि गहलोत सरकार के शासन में राजस्थान में सब कुछ बढिय़ा है? लेकिन सरकारी आंकड़ों के अनुसार प्रदेश में दलित अत्याचारों में अत्याधिक बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी, प्रियंका गांधी उत्तरप्रदेश तो चले जाते हैं, लेकिन इतनी वारदातें होने के बाद राजस्थान क्यों नहीं आते? जरा राजस्थान भी घूम जाइये, यहां भी देश की बेटियों के साथ वारदातें हुईं हैं।